comScore

आदिवासी विकास की योजना की घोषणा के साथ चुनाव तैयारी का आगाज करेंगे मोदी

February 12th, 2019 14:16 IST
आदिवासी विकास की योजना की घोषणा के साथ चुनाव तैयारी का आगाज करेंगे मोदी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। यवतमाल जिले के महिला महासम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 फरवरी को  आ रहे हैं ।  महासम्मेलन में 50 हजार महिला मतदाताओं को जुटाने का लक्ष्य है। बताया जा रहा है कि इस महासम्मेलन के माध्यम से ही प्रधानमंत्री मोदी विदर्भ व राज्य में भाजपा के लोकसभा चुनाव की तैयारी का आगाज करेंगे। आचार संहिता लगने के पहले आयोजित होनेवाले प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों में पांढरकवड़ा का महासम्मेलन काफी महत्वपूर्ण रहेगा। इस महासम्मेलन के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने सहयोगी राज्यमंत्री मदन येरावार व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री हंसराज पवार के नेतृत्व में कार्यक्रम नियोजन कराया है। 

पहले भी सुर्खियों में रहा है यवतमाल जिला
गौरतलब है कि यवतमाल जिले का आदिवासी बहुल क्षेत्र विविध समस्याओं को लेकर अक्सर चर्चा में रहा है। किसान आत्महत्या के प्रकरण भी सबसे अधिक इस क्षेत्र में हुए हैं। पांढरकवड़ा क्षेत्र में तेलंगाना व आंध्रप्रदेश के खनिज कारोबारियों का भी प्रभाव रहा है। वन क्षेत्र की संपत्ति का दोहन करने का आरोप भी लगता है। क्षेत्र में कुछ हिस्से कुंवारी माता के गांव के तौर पर पहचाने जाने लगे हैं। कांग्रेस, राकांपा, भाजपा व शिवसेना के लिए इस क्षेत्र की समस्या अक्सर चुनावी मुद्दा भी बनती है। 

चाय पर चर्चा कर चुके हैं पीएम मोदी
संप्रग सरकार के समय कांग्रेस ने महाराष्ट्र में विकास के दावे के साथ सत्ता में बदलाव का वादा किया था। राहुल गांधी ने लोकसभा में किसान परिवार की महिला कलावती का जिक्र किया था। कलावती को सहायता भी दी गई थी। वह महिला यवतमाल जिले की ही है। इसी क्षेत्र से लगे अमरावती जिले में राहुल गांधी ने 16 किमी की पदयात्रा भी की थी। 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर नरेंद्र मोदी भी वर्धा व यवतमाल जिले में पहुंचे थे। यवतमाल जिले के दाबडी गांव में उन्होंने किसानाें के साथ चाय पर चर्चा की थी। उसी चर्चा में उन्होंने कृषि उपज पर लागत मूल्य से 50 प्रतिशत अधिक समर्थन मूल्य देने का वादा किया था।

ये है दूर की सोच
बताया जा रहा है कि इस बार प्रधानमंत्री का दौरा पूरी तरह से आदिवासियों महिलाओं की स्थिति पर केंद्रित रहेगा। प्रधानमंत्री ने मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारी के तहत आदिवासी महिला सम्मेलन का आयोजन कराया था। आदिवासी विकास पंचवर्षीय योजना की घोषणा की थी। उसी तरह की घोषणा महाराष्ट्र के आदिवासी बहुल क्षेत्र के लिए किए जाने का दावा किया जा रहा है। यवतमाल जिले का कुछ हिस्सा चंद्रपुर लोकसभा क्षेत्र में आता है। यवतमाल-वाशिम लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व शिवसेना कर रही है। चंद्रपुर से भाजपा के हंसराज अहिर नेेेेेेेेतृत्व कर रहे हैं। 

कमेंट करें
91dwQ