comScore
Dainik Bhaskar Hindi

गुजरात में हार के लिए अय्यर और सिब्बल जिम्मेदार : वीरप्पा मोईली

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 20th, 2017 15:30 IST

2.6k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गुजरात विधानसभा चुनावों में हार के बाद अब कांग्रेस के सीनियर लीडर एम वीरप्पा मोईली ने कहा है कि मणिशंकर अय्यर और कपिल सिब्बल के बयानों से पार्टी को नुकसान पहुंचा है। मोईली ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने जो बढ़त बनाई थी, उसे अय्यर और सिब्बल के बयानों ने दूर कर दिया। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने काफी निचले स्तर तक जाकर इन बयानों का फायदा उठाया।


और क्या कहा मोईली ने? 

गुजरात में चुनाव हारने के बाद कांग्रेस के सीनियर लीडर वीरप्पा मोईली ने मीडिया से बातचीत में कहा कि गुजरात में कपिल सिब्बल और मणिशंकर अय्यर के बयानों से नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि मणिशंकर जैसे हमारे लोगों को प्रधानमंत्री के लिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि गुजरात में प्रधानमंत्री मोदी ने काफी निचले स्तर तक जाकर इन बयानों का फायदा उठाया। साथ ही उन्होंने ये भी दावा किया कि 2019 के आम चुनावों के लिए राहुल गांधी, प्रधानमंत्री मोदी का विकल्प बनकर उभरे हैं। वीरप्पा मोईली ने पीएम मोदी पर गुजरात के लोगों को इमोशनली ब्लैकमैल करने का आरोप भी लगाया।

क्या कहा था अय्यर ने? 

कांग्रेस के सीनियर लीडर मणिशंकर अय्यर ने गुजरात चुनाव के प्रचार के दौरान पीएम मोदी के लिए 'नीच' शब्द का इस्तेमाल किया था। उन्होंने कहा था कि 'मुझे लगता है कि ये आदमी बहुत 'नीच' किस्म का है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या जरूरत है?' इसके बाद पीएम मोदी ने भी इसको चुनावी मुद्दा बना दिया और मणिशंकर की बात को 'गुजरातियों के अपमान' से जोड़ दिया। इसके साथ ही पीएम ने ये भी कहा था कि मणिशंकर अय्यर के घर पर पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ एक मीटिंग हुई और इसके अगले ही दिन उन्होंने मुझे 'नीच' कह दिया।

सिब्बल ने क्या कहा था? 

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद को लेकर सुनवाई की गई थी। उस दौरान कांग्रेस लीडर और सुन्नी वक्फ बोर्ड के एडवोकेट कपिल सिब्बल ने कोर्ट से इस मामले की सुनवाई को 2019 के जनरल इलेक्शन तक टालने की मांग की थी। हालांकि कोर्ट ने सिब्बल की इस दलील को खारिज कर दिया था और अगली सुनवाई के लिए 8 फरवरी की तारीख तय की है। इसके बाद पीएम मोदी ने एक रैली में कहा था कि 'मुझे इस पर कोई आपत्ति नहीं है कि कपिल सिब्बल मुस्लिम समुदाय की तरफ से लड़ रहे हैं, लेकिन वो ये कैसे कह सकते हैं कि अगले चुनाव तक अयोध्या मामले का हल नहीं होना चाहिए? इसका संबंध 2019 के लोकसभा चुनाव से कैसे है? आखिर 2019 में कांग्रेस चुनाव लड़ेगी या फिर सुन्नी वक्फ बोर्ड लड़ेगा।'

गुजरात चुनाव के नतीजे

गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे सोमवार को घोषित कर दिए गए। पिछले 22 सालों से सत्ता पर काबिज बीजेपी एक बार फिर से अपनी सरकार बनाने में कामयाब रही, जबकि कांग्रेस इस बार भी सत्ता से दूर ही रही। इस बार के चुनावों में बीजेपी को राज्य की 182 सीटों में से 99 सीटें मिली, जबकि कांग्रेस गठबंधन को 80 सीटें और अन्य के खाते में 3 सीटें गई। इसके साथ ही वोट शेयर के मामले में भी बीजेपी 49.1% (1,47,24,427 वोट) के साथ पहले नंबर पर है, वहीं 41.4% (1,24,38,937 वोट) के साथ कांग्रेस दूसरे नंबर पर रही।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर