comScore

मिशन शक्ति के वैज्ञानिकों से पीएम की बताचीत, बोले- 'हम भी कुछ कम नहीं'

मिशन शक्ति के वैज्ञानिकों से पीएम की बताचीत, बोले- 'हम भी कुछ कम नहीं'

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मिशन शक्ति की कामयाबी के बाद इस मिशन से जुड़े वैज्ञानिकों के साथ बातचीत की।
  • इस दौरान उन्होंने सभी वैज्ञानिकों को इस मिशन की कामयाबी पर बधाई दी।
  • पीएम ने कहा, आप लोगों ने दुनिया को संदेश दिया है कि हम भी किसी से कम नहीं।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मिशन शक्ति की कामयाबी के बाद इस मिशन से जुड़े वैज्ञानिकों के साथ बातचीत की। इस दौरान उन्होंने सभी वैज्ञानिकों को इस मिशन की कामयाबी पर बधाई दी और कहा कि 'आप लोगों ने दुनिया को संदेश दिया है कि हम भी किसी से कम नहीं।' बता दें कि भारत ने लो अर्थ ऑर्बिट में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता विकसित कर ली है। इस प्रोजेक्ट को मिशन शक्ति नाम दिया गया था।

पीएम मोदी ने कहा कि 'आप सभी लोगों को बहुत-बहुत बधाई.. आप सभी का अभिनंदन.. आपका परिश्रम रंग लाया। जो किसी का बुरा नहीं सोचता है वो अगर शक्तिहीन हो जाएगा तो बुरा सोचने वालों की ताकत बुराईयों को जन्म देती रहेगी। जो किसी का बुरा नहीं सोचता उसका सबसे ज्यादा बलवान होना आवश्यक होता है।' पीएम मोदी ने कहा, 'हमारे लिए सबसे बड़ी गर्व की बात मेक इन इंडिया मेड इन इंडिया के सपने को पूरा होते देखना है। पीएम ने कहा, 'आप लोगों ने अपनी सफलता के माध्यम से दुनिया को ये संदेश दे दिया है कि हम भी कुछ कम नहीं है।'

बता दें कि अमेरिका, चीन और रूस के बाद भारत भी उन देशों की लिस्ट में शामिल हो गया है जिसके पास लो अर्थ ऑर्बिट में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राष्ट्र को इस बारे में बताया। पीएम मोदी ने कहा, भारत ने आज एक अभूतपूर्व सिद्धि हासिल की है। भारत में आज अपना नाम ‘स्पेस पॉवर’ के रूप में दर्ज करा दिया है। अब तक रूस, अमेरिका और चीन को ये दर्जा प्राप्त था, अब भारत को भी यह उपलब्धि हासिल की है।

पीएम ने कहा, भारत ने 'ऑपरेशन शक्ति' के माध्यम से अंतरिक्ष शक्ति के रूप में खुद को स्थापित कर लिया है। हमारे वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में 300 किमी दूर LEO (Low Earth Orbit) में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया है। ये लाइव सैटेसाइट जो कि एक पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, उसे एंटी सैटेलाइट मिसाइल (A-SAT) द्वारा मार गिराया गया है। सैटेलाइट को मार गिराने का यह ऑपरेशन मात्र तीन मिनट में पूरा कर लिया गया।

पीएम ने ये भी कहा कि इस प्रोजेक्ट का मूल उद्देश्य भारत की सुरक्षा, भारत का आर्थिक विकास और भारत की तकनीकी प्रगति है। आज का यह 'मिशन शक्ति' इन सपनों को सुरक्षित करने की ओर एक अहम कदम है। हमें भविष्य की चुनौतियों का सामना करने और अपने नागरिकों के जीवन स्तर में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए आधुनिक तकनीकों को अपनाना ही होगा। 
 

कमेंट करें
Xv0JD