comScore

स्वीडिश पीएम ने प्रोटोकॉल तोड़कर एयरपोर्ट पर किया मोदी का स्वागत

April 17th, 2018 18:03 IST
स्वीडिश पीएम ने प्रोटोकॉल तोड़कर एयरपोर्ट पर किया मोदी का स्वागत

डिजटल डेस्क, स्टॉकहोम। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 दिनों की विदेश यात्रा के पहले पड़ाव में सोमवार देर रात स्वीडन की राजधामी स्टॉकहोम पहुंचे। एयरपोर्ट पर स्वीडिश पीएम स्टेफन लोफवेन ने प्रोटोकॉल तोड़कर पीएम मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया। एयरपोर्ट से बाहर निकलकर वहां मौजूद भारतीय मूल के लोगों से मुलाकात की। 16 से 20 अप्रैल तक की 5 दिन की यात्रा के दौरान पीएम मोदी मंगलवार को स्वीडन में रहेंगे और कई क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग मजबूत बनाने पर जोर देंगे। 30 सालों बाद पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री स्वीडन पहुंचा है। नरेंद्र मोदी से पहले राजीव गांधी स्वीडन पहुंचे थे। बता दें कि 5 दिन के दौरे में नरेंद्र मोदी ब्रिटेन और जर्मनी भी जाएंगे।



स्वीडिश पीएम ने पहली बार तोड़ा प्रोटोकॉल

सोमवार देर रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वीडन पहुंचे, जहां एयरपोर्ट पर उनका स्वागत स्वीडिश पीएम स्टेफन लोफवेन ने किया। ये पहला मौका है, जब स्वीडन के प्रधानमंत्री ने प्रोटोकॉल तोड़कर किसी विदेशी नेता का स्वागत किया। बताया जा रहा है कि एयरपोर्ट पर पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए भारतीय भी पहुंचे थे। पीएम ने एयरपोर्ट के बाहर काफी देर तक भारतीयों के साथ बात की और उनसे मुलाकात की।



मंगलवार को क्या है पीएम मोदी का कार्यक्रम?

- मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले स्वीडन के राजा कार्ल 16वें गुस्ताफ से मुलाकात करेंगे। इसके बाद पीएम मोदी और स्वीडिश पीएम के बीच मुलाकात होगी, जिसमें दोनों देशों के बीच कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे। इसके बाद दोनों नेता एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद पीएम मोदी सिटी हॉल गोल्डन रूम में स्वीडन-इंडिया बिजनेस डे में भी शिरकत करेंगे।

- इसके बाद मंगलवार को ही पीएम मोदी इंडिया-नॉर्डिक समिट में शिरकत करेंगे। दरअसल, स्वीडन, नॉर्वे, फिनलैंड, डेनमार्क और आइसलैंड देशों के ग्रुप को 'नॉर्डिक देश' भी कहा जाता है। इस लिहाज से भारत के लिए ये बड़ा मौका है कि 5 देशों के प्रमुखों के साथ पीएम मोदी की बैठक होगी। बताया जा रहा है कि इससे पहले ये सम्मान अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को मिला था। उनके कार्यकाल में अमेरिका-नॉर्डिक समिट अयोजित हुई थी। उसके बाद से इस तरह का आयोजन दूसरी बार हो रहा है।

कॉमनवेल्थ समिट में लिमोजीन कार से सफर करेंगे मोदी

स्वीडन के बाद मंगलवार रात को प्रधानमंत्री मोदी ब्रिटेन के लिए रवाना होंगे। यहां वो ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे से मुलाकात करेंगे। इसके साथ ही लंदन में होने वाली कॉमनवेल्थ समिट में भी हिस्सा लेंगे। बताया जा रहा है कि कॉमनवेल्थ समिट में आने वाले 52 देशों के प्रमुखों में से मोदी अकेले प्रधानमंत्री होंगे, जिन्हें वहां लिमोजीन कार से सफर करने की इजाजत होगी। जबकि बाकी देशों के नेता इस समिट के दौरान बस से सफर करेंगे। बताया जा रहा है कि 2009 के बाद से कॉमनवेल्थ समिट में हिस्सा लेने वाले नरेंद्र मोदी पहले भारतीय पीएम होंगे।

महात्मा गांधी के बाद वेस्टमिंस्टर हॉल में बोलने वाले पहले भारतीय होंगे मोदी

18-19 अप्रैल को पीएम मोदी लंदन में रहेंगे। जानकारी के मुताबिक, बुधवार को पीएम मोदी लंदन के वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में 'भारत की बात, सबके साथ' कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। इस कार्यक्रम को यूरोप फोरम इंडिया ने आयोजित किया है, जिसमें भारतीयों समेत कई ब्रिटिश नागरिक भी शामिल होंगे। बता दें कि नरेंद्र मोदी, महात्मा गांधी के बाद पहले भारतीय हैं, जो लंदन के वेस्टमिंस्टल हॉल में किसी कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। महात्मा गांधी ने 1931 में इस हॉल में संबोधित किया था, उस समय इसे मैथोडिस्ट सेंट्रल हॉल के नाम से जाना जाता था।

दौरे से पहले फेसबुक पर लिखी पीएम ने 'मन की बात'

स्वीडन और ब्रिटेन के दौरे से पहले पीएम मोदी ने फेसबुक पर अपने इस दौरे को लेकर एक पोस्ट लिखी। इस पोस्ट में पीएम ने लिखा 'भारत और स्वीडन के बीच दोस्ताना रिश्ता है। हमारी साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों और समावेशी नियमों की बुनियाद पर टिकी वैश्विक व्यवस्था पर आधारित है। स्वीडन हमारे विकास से जुड़ी पहल में एक मूल्यवान साझेदार है।' उन्होंने कहा कि वो स्वीडन पहुंचकर स्वीडिश पीएम स्टेफान लोफवेन से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा 'टेक्नॉलजी, पर्यावरण, बंदरगाहों का आधुनिकीकरण, कोल्ड चेन और टैलेंट डेवलपमेंट में नॉर्डिक देशों की ताकत का लोहा विश्व मान चुका है।' ब्रिटेन दौरे का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा 'लंदन की मेरी यात्रा दोनों देशों को इस बढ़ती द्विपक्षीय साझेदारी में एक नई गति पैदा करने का एक मौका देती है। मैं स्वास्थ्य, इनोवेशन, डिजिटलीकरण, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, स्वच्छ ऊर्जा और साइबर सुरक्षा के क्षेत्रों में भारत ब्रिटेन साझेदारी बढ़ाने पर बल दूंगा।' पीएम ने फेसबुक पोस्ट में ये जानकारी भी दी कि 19 और 20 तारीख को वो कॉमनवेल्थ हेड्स ऑफ़ गवर्मेंट  की मीटिंग में भी हिस्सा लेंगे।

Loading...
कमेंट करें
XYPCF
Loading...
loading...