comScore

PMO स्टाफ से बोले मोदी- खुद के अंदर लीडरशिप का होना बहुत जरूरी

PMO स्टाफ से बोले मोदी- खुद के अंदर लीडरशिप का होना बहुत जरूरी

हाईलाइट

  • शपथ ग्रहण से पहले नरेंद्र मोदी ने पीएमओ स्टाफ को संबोधित किया
  • पीएम ने स्टाफ का धन्यवाद किया और कर्मचारियों की तारीफ भी की
  • मोदी ने कहा- PMO को प्रभावी नहीं बल्कि कार्यकुशल बनाना है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ग्रहण से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (25 मई) को पीएमओ स्टाफ को संबोधित किया। पीएम मोदी ने पूरे स्टाफ का धन्यवाद करते हुए उनकी जमकर तारीफ भी की। पीएम ने कहा, आपने मेरी अपेक्षा से ज्यादा परिणाम दिया। उन्होंने ये भी कहा कि, खुद के अंदर लीडरशिप का होना बहुत जरूरी है। हम नहीं चाहते हैं कि इतनी बड़ी शासन व्यवस्था में पीएमओ प्रभावी हो, हम पीएमओ को कार्यकुशल बनाना चाहते हैं।

समर्पित टीम के बिना परिणाम नहीं मिलता
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, कोई भी परिणाम तब तक नहीं मिलता, जब तक कोई समर्पित टीम नहीं मिलती है। सपने कितने ही सुहाने क्यों न हों, लेकिन ये तब तक पूरे नहीं होते जब तक साथियों की सोच काम को लेकर एक जैसी नहीं होती। इस दौरान पीएम ने बीज गणित के फॉर्मूले का जिक्र कर पीएमओ के कर्मचारियों की ऊर्जा के बारे में बताया। पीएमओ स्टाफ से पीएम मोदी ने कहा, आप काम के चलते अपने परिवार को समय नहीं दे सके होंगे। आपके परिवार ने भी आपका साथ दिया इसके लिए मैं उनको भी धन्यवाद देता हूं।

लोगों के विश्वास का दबाव ऊर्जा में बदला
पीएम मोदी ने कहा, जिस इरादे से 2014 में चले थे 2019 तक हमने अपने मार्ग में थोड़ा भी भटकाव नहीं आने दिया। हम समर्पण बढ़ाते गए। लोगों की अपेक्षाओं के कारण काम का दबाव बढ़ता गया। लोगों के विश्वास की वजह से जब दबाव बढ़ता है तो वह ऊर्जा में बदल जाता है। पीएम ने कहा, हम लोगों ने अनुभव किया है कि जो देश की अपेक्षाओं का दबाव हमारे लिए बोझ नहीं बना, बल्कि हमारी ऊर्जा बनकर उभरा।

कमेंट करें
JGIuy