comScore
Dainik Bhaskar Hindi

'वो गुजरात आते हैं और गुजरात के बेटे के बारे में झूठ फैलाकर जाते हैं'

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 27th, 2017 16:10 IST

531
0
0

डिजिटल डेस्क, अहमदाबाद। गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के चुनाव अभियान की बागडोर अपने हाथ में ली है। पीएम मोदी आज और मंगलवार को सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में 8 सभाएं करने जा रहे हैं। जिन इलाकों में पीएम रैली करने वाले हैं उन सभी में विधानसभा चुनाव के लिए पहले दौर में मतदान होगा। प्रधानमंत्री आज भुज के कच्छ, राजकोट के जसदण, अमरेली के धारी और सूरत के कामरेज में रैली करेंगे। कच्छ में मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला।

 कच्छ की चुनावी जनसभा में नरेंद्र मोदी ने कहा कि गुजरात में जहां एक ओर विकास में विश्वास है वहीं दूसरी ओर वंशवाद है। गुजरात की जनता ने कभी कांग्रेस को स्वीकार नहीं किया है। कच्छ में आए भूकंप के बाद अटल जी ने मुझे गुजरात भेजा था। मैंने कच्छ में काफी वक्त बिताया और सीखा कि प्रशासन कैसे चलाया जाता है। मोदी ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि वो गुजरात आते हैं और गुजरात के बेटे के बारे में झूठ फैलाते हैं। उन्होंने पहले सरदार पटेल के बारे में भी ऐसा ही किया था। गुजरात और गुजराती ये कभी स्वीकार नहीं करेंगे।

स्टार प्रचारकों ने संभाला मोर्चा


बेशक पीएम गुजरात में चुनाव प्रचार की कमान आज से संभाल रहे हो, लेकिन उनके दौरे से पहले ही बीजेपी के बाकी स्टार प्रचारक राज्य में मोर्चा संभाले हुए हैं। मोदी सरकार की कैबिनेट के करीब आधे मंत्री गुजरात के अलग-अलग इलाकों में बीजेपी को जीत दिलाने के मकसद से पहले ही मौजूद हैं। पार्टी के अधिकतर सांसद भी गुजरात में डेरा जमाए हुए हैं।

गुजरात प्रदेश बीजेपी के प्रवक्ता भारत भाई पांड्या ने कहा कि हर रैली को इस तरह से आयोजित किया गया है कि आसपास के 5 और 6 विधानसभा क्षेत्रों के लोग भी इसमें शामिल हो सकें। समझा जाता है कि प्रधानमंत्री मोदी गुजरात में 25 से 30 सभाओं को संबोधित करने जा रहे हैं। कांग्रेस के ‘विकास पागल हो गया है’ के नारे की काट के रूप में बीजेपी अब ‘मैं गुजरात छू, मैं विकास छूं’ के नारे पर जोर दे रही है।

27 नवंबर को बीजेपी के कई प्रमुख नेता पहले चरण के मतदान वाले क्षेत्रों में प्रचार करेंगे। बीजेपी की ओर से स्टार प्रचारकों में केंद्रीय मंत्री- राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, अरुण जेटली तथा सुषमा स्वराज व बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री- योगी आदित्यनाथ, वसुंधरा राजे समेत कई अन्य नेता शामिल हैं।
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर