comScore

बोरी में तेंदुआ की खाल रख घूम रहा था युवक, पकड़े गए खाल तस्कर

January 11th, 2019 17:59 IST
बोरी में तेंदुआ की खाल रख घूम रहा था युवक, पकड़े गए खाल तस्कर

डिजिटल डेस्क, मंडला। मोतीनाला पुलिस ने तेंदुए की खाल के तस्कर को पकड़ा है। आरोपी बोरी में खाल रखकर घूम रहा था। भीमडोंगरी और मंगली के बीच सेलटेक्स बैरियर के पास घेराबंदी कर आरोपी को दबोच लिया गया है। पुलिस ने वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा2,9,39, 48बी, 50,51 के तहत मामला दर्ज किया है। तेंदुए की खाल की कीमत 5 लाख से अधिक है। पुलिस मामले की जांच मे जुटी है।

जानकारी के मुताबिक 10 जनवरी को मोतीनाला पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि भीमडोगरी और मंगली के बीच सेल टेक्स नाका के पास नीली टीशर्ट पहने युवक खड़ा है। वह कहीं जाने की फिराक में है। उसके पास बैग है। जिसमें तेंदुए की खाल रखी हुई है। मोतीनाला पुलिस ने वरिष्ठ अधिकारियों को घटना से अवगत कराया। पुलिस अधीक्षक ने निर्देश पर दल रवाना किया गया। मौके पर जाकर मुखबिर के द्वारा बताये गए हुलिये के व्यक्ति की तलाश की गई। सेल टेक्स नाका के पास युवक खड़ा था। उसके हाथ में पीले रंग की बोरी थी। पुलिस ने घेराबंदी करते हुये युवक का पकड़ा और उसकी तलाशी ली गई। युवक गंगाराम पिता परसादी धुर्वे 30 वर्ष निवासी खमेरा थाना बजाग डिंडौरी के कब्जे से तेंदुए की खाल बरामद की गई। जिसकी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 5 लाख से अधिक कीमत है। तेंदुआ की खाल के मध्य भाग की लंबाई 24 इंच, दोनो बाएं कोनो की लंबाई 24 इंच, दाहिने दोनों कोनो की लंबाई 13 इंच और खाल के अगले कोनों की लंबाई 30.05 इंच है। तेंदुआ की खाल गीली है, जिससे अनुमान है कि शिकार कुछ दिन ही पूर्व किया गया है।

पुलिस ने वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा2,9,39, 48बी, 50,51 के तहत मामला दर्ज किया है। कार्रवाई में टीआई नीलेश परतेती, एसआई आनंद ठाकुर, कामेश धूमकेती, जितेंद्र गुर्जर, एएसआई धनपाल बिसेन,आरक्षक अंकित पटले, दुर्गेश राय, अजय परते शामिल हैं।

दूसरी कार्रवाई
मोतीनाला पुलिस की यह दूसरी कार्रवाई है। इससे पहले मुख्य मार्ग एनएच 30 स्थित फॉरेस्ट नाके से लगभग 50 मीटर अंदर देवगांव की ओर जाने वाली सड़क पर आरोपी सीताराम पिता मानसिंह की 35 साल निवासी खैरानी थाना ढीमरखेड़ा जिला कटनी को पकड़ा गया था। आरोपी के पास थैले में तेंदुए की खाल मिली थी। बरामद खाल की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब 5 लाख आंकी गई थी। खाल की कुल लंबाई 54 इंच के दोनों पैर की चौड़ाई 23 इंच चौड़ाई 16 इंच और पीछे की दोनों की गर्दन से नाक की लंबाई 10 इंच है पूंछ की लंबाई 24 इंच थी। दस दिन के अंदर पुलिस ने दूसरे तेंदुए की खाल के तस्कर को दबोचा है।

तेंदुआ और चीतल की खाल के साथ दो आरोपी पकड़े
कान्हा नेशनल पार्क की स्पेशल टीम ने वन्यप्राणियो की खाल के तस्कर पकड़े हैं। दो आरोपियों से तेंदूआ और चीतल की खाल बरामद की गई है। अनुमान है कि खाल दस साल पुरानी है। वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम की विभिन्न धाराओ के तहत कार्रवाई की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक कान्हा नेशनल पार्क की स्पेशल टीम को दो लोगों के पास तेंदुआ और चीतल की खाल होने की जानकारी मुखबिर से मिली थी। टीम ने क्षेत्र संचालक को इससे अवगत कराया। जिसके बाद दल को कार्रवाई के निर्देश दिये हैं। स्पेशल टीम ने कक्ष क्रमांक 1090 बम्हनी बीट रेंज खापा से आरोपियों की घेराबंदी की और नत्थू सिंह पिता गिरवर सिंह सैयाम, हनमत सिंह पिता सुमरन सिंहनिवासी सिंगबाग बैहर जिला बालाघाट को धरदबोचा। आरोपियों के कब्जे से 1 नग तेंदुआ की खाल और 1 नग चीतल का चमड़ा बरामद किया है। दो मोबाइल भी जब्त किये गये हैं। खाल करीब दस साल पुरानी है और बेचने के फिराक में थे। आरोपियों के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा2,9,39, 48बी, 50,51 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। कार्रवाई में पार्क अधीक्षक सुधीर मिश्रा, परिक्षेत्र अधिकारी खापा देवेश खराड़ी, वनरक्षक देवी ठाकरे, बसंत मरावी, आशीष मोहनराय रमेश ओझा, खुशीराम बिसेन ,भूपेन्द्र ठाकरे दोहाराम, संतोष यादव शामिल रहे हैं।

कमेंट करें
Tu016