comScore
Election 2019

नागपुर से पकड़ाया मध्यप्रदेश से माल उड़ाने वाला आरोपी

नागपुर से पकड़ाया मध्यप्रदेश से माल उड़ाने वाला आरोपी

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के बिछुआ तहसील की ग्राम खमरा की एक ज्वेलरी शॉप का शटर उखाड़कर करीब 40 लाख के गहनों पर हाथ साफ करने वाले आरोपियों का पर्दाफाश हो गया है। मध्यप्रदेश की पुलिस ने बल्लू चिकलीकर नामक आरोपी को नागपुर के जरीपटका क्षेत्र के सुगत नगर परिसर में धरदबोचा। गिरफ्तार आरोपी बल्लू चिकलीकर का भाई चरण चिखलीकर भागने में कामयाब हो गया।  सूत्रों के अनुसार चिकलीकर बंधुओं ने अपने दो मित्रों के साथ मिलकर ज्वेलरी की दुकान का शटर उखाड़कर चोरी की वारदात को अंजाम दिया। घटना के बाद चिकलीकर बंधुओं ने पांढुर्णा, नांदेड़ और नागपुर में छिपकर रहे।

नागपुर में चिकलीकर बंधुओं के छिपे होने की जानकारी छिंदवाड़ा के बिछुआ थाना के पुलिस निरीक्षक प्रीतम सिंह और अपराध शाखा पुलिस विभाग के अधिकारी मनीषराज भदोरिया को मिली। इन दोनों अधिकारियों ने नागपुर में पहुंचकर आरोपी बल्लू चिकलीकर को गिरफ्तार किया। उसके फरार भाई चरण चिकलीकर व अन्य दो आरोपियों की तलाश पुलिस कर रही है। 

नागपुर आए थे रिश्तेदार 
सूत्रों के अनुसार चिकलीकर बंधुओं ने ज्वेलरी की दुकान में वारदात को अंजाम देने के बाद पांढुर्णा से होते हुए नांदेड़ पहुंचे। वहां पर आरोपियों ने मोबाइल फोन बंद कर दिया। उनके पीछे लगी बिछुआ पुलिस को आरोपियों के मोबाइल का लोकेशन नागपुर रेलवे स्टेशन के पास का पता चला, तब बिछुआ थाने का एक दस्ता नागपुर के लिए रवाना हुआ। आरोपियों ने अपने कुछ रिश्तेदारों को  नागपुर में होने की जानकारी दी थी। उनके रिश्तेदार नटवर ट्रैवल्स की बस से नागपुर आए थे। इसी बस से बिछुआ थाने के पुलिस निरीक्षक प्रीतम सिंह व अन्य लोग नागपुर पहुंचे। आरोपियों के रिश्तेदारों को शक नहीं होने दिया। पुलिस उनका पीछा करते हुए गणेशपेठ पहुंची। गणेशपेठ पुलिस को भी कोई सूचना नहीं दी गई। गणेशपेठ क्षेत्र से बिछुआ थाने की पुलिस ने आरोपियों के रिश्तेदारों को धरदबोचा। 

ऑटो चालक से वर्दी मांगने पर हुआ नकली पुलिस होने का संदेह
सूत्रों ने बताया कि गणेशपेठ क्षेत्र में पहुंची बिछुआ पुलिस ने जब आरोपियों के रिश्तेदारों को गिरफ्त में लिया और बाद में ऑटो चालक को परिचय देकर उसकी वर्दी मांगी, तब उसे शक हुआ कि, यह नकली पुलिस या अपहरणकर्ता हो सकते हैं। मौका पाकर ऑटो चालक ने गणेशपेठ पुलिस को जानकारी दे दी। थाने का एक दल गणेशपेठ परिसर में ऑटो स्टैंड पर पहुंच गया, तब पता चला कि, वह नकली पुलिस नहीं है, बल्कि छिंदवाड़ा जिले की    बिछुआ थाने की पुलिस है। गणेशपेठ पुलिस ने हकीकत जानने पर बिछुआ पुलिस को सुगत नगर तक पहुंचने में मदद की, जिसके चलते आरोपी बल्लू चिकलीकर उनके हाथ लग गया। 

चिकलीकर बंधुओं ने नागपुर में होने की दी थी जानकारी
चिकलीकर बंधुओं ने अपने रिश्तेदारों को फोन कर नागपुर में होने की जानकारी दी थी। बल्लू चिकलीकर ने अपने रिश्तेदारों को जरीपटका के सुगत नगर क्षेत्र में बुलाया था। इधर गणेशपेठ के वरिष्ठ थानेदार सुनील गांगुर्डे को जब यह बात पता चली कि, मध्यप्रदेश की पुलिस दो दिन से शहर में डेरा डाले हुए हैं, तब उन्होंने अपने थाने के अधिकारी राठोड़ को इस मामले की छानबीन करने का आदेश दिया। उधर बल्लू के पुलिस गिरफ्त में आने के बाद बिछुआ पुलिस ने गणेशपेठ पुलिस को सूचना दी। उसके बाद आरोपी बल्लू को लेकर रवाना हो गई। 

क्या था मामला 
खमरा में पवन चंदेरे की पवन ज्वेलरी शॉप है। उनकी दुकान का गत दिनों चार आरोपियों ने शटर उखाड़ कर करीब 1 किलो सोना, 10 किलो चांदी, 1 लाख 70 हजार रुपए नकद चुरा ले गए। ज्वेलरी शॉप में चोरी की वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक मनोज राय स्थानीय क्राइम ब्रांच की टीम के साथ खमरा पहुंचे थे। चार नकाबपोश बदमाश ने घटना को अंजाम दिया था। यह बात पता चलने पर बिछुआ पुलिस उनकी खोजबीन में जुट गई। चोरी की यह वारदात शॉप में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई है। चारों बदमाश लगभग आधा घंटे तक शॉप में रहे। जिले में इस साल की यह सबसे बड़ी चोरी बताई जा रही है। चोर गिरोह ने दुकान की रैकी के बाद चोरी की घटना को अंजाम दिया है। चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस साइबर की मदद ली गई।  

Loading...
कमेंट करें
zTulI
Loading...