comScore

अयोध्या मामले को लेकर पुलिस सतर्क - अफवाह फैलाने वालों पर रहेगी सख्ती

अयोध्या मामले को लेकर पुलिस सतर्क - अफवाह फैलाने वालों पर रहेगी सख्ती

डिजिटली डेस्क जबलपुर। अयोध्या मामले को लेकर आगामी दिनों में आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले को दृष्टिगत रखते हुए कानून व्यवस्था एवं शांति बनाए रखने के लिए आईजी विवेक शर्मा ने सभी राजपत्रित अधिकारियों, थाना प्रभारियों की बैठक ली एवं सेवानिवृत्त होकर जिले में निवास कर रहे पुलिस अधिकारियों से चर्चा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि आने वाले निर्णय के उपरांत अफवाह फैलाकर तनाव फैलाने वालों के साथ सख्ती से निपटें व इस तरह की हर सूचना पर बारीकी से नजर रखें।     उन्होंने कहा कि अधिकारी  अपने साथ अधिक से अधिक बल लेकर लगातार अपने थाना क्षेत्र में पैदल भ्रमण करते हुये कानून एवं शांति व्यवस्था तथा सौहाद्र्र बनाये रखने हेतु समाज के ऐसे लोगों से जो समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं उनसे लगातार चर्चा करें।  हमारी प्राथमिकता है कि किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति निर्मित न हो, आप सभी अपने थाना क्षेत्र में रहने वाले लोगों से यदि समय निर्धारित कर उनकी सुविधानुसार बैठक कर आपस में खुले मन से संवाद करेंगे तो कई बातें ऐसी आपकी जानकारी में आयेंगी जिनका आपको अंदेशा ही नहीं था। साथ ही हर छोटी से छोटी घटना की सूचना पर तत्काल मौके पर पहुँचे एवं उस पर तत्काल विधिसम्मत  कार्यवाही करें। कार्यवाही निष्पक्ष हो इस बात का विशेष ध्यान रखें। 
मोहल्ला समितियों की बैठक बुलाएँ 
 बैठक में एसपी अमित सिंह ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी किये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाये एवं शांति समिति एवं मोहल्ला समिति की बैठक प्रतिदिन ली जाए। बैठक में जो भी मुद्दे आते हैं उनका त्वरित निराकरण किया जाये। संवेदनशील स्थानों को चिन्हित किया जाये, यदि संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं तो कैमरे लगवाये जायें। 
सेवानिवृत्त अधिकारियों से चर्चा 
 बैठक में मुख्य रूप से शहर में निवास कर रहे सेवानिवृत्त पुलिस अधीक्षक अशोक शुक्ला, उप पुलिस अधीक्षक आर.सी. तिवारी, सी.एन. दुबे, जयंत टेमरे, आर.एस. कालड़ा,  ए.एच. रिजवी, निरीक्षक पी.एस. ग्रेेवाल आदि से  उनकी जबलपुर पदस्थापना के दौरान घटित हुई साम्प्रदायिक घटनाओं तथा  घटित हुई घटनाओं को किस प्रकार नियंत्रित किया गया था के सम्बंध में  विस्तार से चर्चा की गयी। इस दौरान सेवानिवृत्त अधिकारियों के द्वारा महत्वपूर्ण सुझाव दिये गये। 
 

कमेंट करें
G7NmJ