comScore

मोदी के जिस मंत्री के लिए बजीं सबसे ज्यादा तालियां, उन पर 7 गंभीर मामले दर्ज

मोदी के जिस मंत्री के लिए बजीं सबसे ज्यादा तालियां, उन पर 7 गंभीर मामले दर्ज

हाईलाइट

  • षाड़ंगी के शपथ ग्रहण में बजी थीं सबसे ज्यादा तालियां
  • धार्मिक वैमनस्य पैदा करने और धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला दर्ज
  • ओडिशा बजरंग दल के अध्यक्ष भी रह चुके हैं प्रताप चंद्र षाड़ंगी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में बीजेपी के बहुमत के साथ जीतने के बाद नरेंद्र मोदी दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। पीएम मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में 57 सांसदों को जगह दी है। उनकी कैबिनेट में शामिल हुए ओडिशा के प्रताप चंद्र षाड़ंगी की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, उन्हें ओडिशा का मोदी बताया जा रहा है। षाड़ंगी के शपथ लेते समय सबसे ज्यादा तालियां बजी थीं।

षाड़ंगी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी चीफ अमित शाह ने भी तालियां बजाई थीं। अब जानकारी सामने आ रही है कि उनके खिलाफ कई आपराधिक मामले भी दर्ज हैं। चुनाव में सुधारों पर गौर करने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) के आंकड़ों के मुताबिक षाड़ंगी के खिलाफ कुल 7 मामले दर्ज हैं, जिसमें धार्मिक वैमनस्य पैदा करने और धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले भी शामिल हैं।

बता दें कि ओडिशा के बालासोर से सांसद प्रताप चंद्र षाड़ंगी को सूक्ष्म लघु और मध्यम मंत्रालय में राज्य मंत्री के साथ ही डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया है। षाड़ंगी पर 7 गंभीर और 15 अन्य धाराएं लगाई गई हैं। जनवरी 1999 में बजरंग दल पर ऑस्ट्रेलिया के एक मिशनरी ग्राहम स्टेंस और उनके 11 और 7 साल के दो बच्चों को जिंदा जलाने का आरोप लगा था, उस समय षाड़ंगी बजरंग दल के अध्यक्ष थे।

ग्राहम स्टेंस अपने बच्चों के साथ क्योंझर जिले के मनोहरपुर गांव में एक वैन में सो रहे थे, जिसमें भीड़ ने आग लगा दी थी। पुलिस ने षाड़ंगी से भी इस मामले में पूछताछ की थी,  हालांकि उन्होंने इसमें शामिल होने से इनकार कर दिया था। षाड़ंगी उस समय आरएसएस और बजरंग दल के नेतृत्व में ईसाई मिशनरियों के खिलाफ अभियान चला रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया था कि मिशनरी आदिवासियों का जबरन धर्म परिवर्तन कर रहे हैं। षाड़ंगी ने ग्राहम स्टेंस और उनके बच्चों की हत्या की निंदा भी की थी।

कमेंट करें
puAOl