comScore
Dainik Bhaskar Hindi

10 पेटी कफ सिरप पकड़ने का मामला रफा- दफा करने की फिराक में पुलिस

BhaskarHindi.com | Last Modified - April 16th, 2018 14:00 IST

1.9k
0
0
10 पेटी कफ सिरप पकड़ने का मामला रफा- दफा करने की फिराक में पुलिस

डिजिटल डेस्क  सतना। बीते दिनों ट्रांसपोर्ट से मेडिकल स्टोर्स जाते वक्त पकड़ी गई 10 पेटी कफ सिरप के मामले में सिटी कोतवाली पुलिस ने नई कहानी गढ़ी है। हाथठेला समेत माल को थाने ले जाने वाली पुलिस 10 पेटी कफ सिरप को लावारिश माल दिखाकर जब्ती बनाने के प्रयास में जुटी है। यह बात अलग है कि सिटी कोतवाली पुलिस के इस मनगढ़ंत पंचनामा में मेडिकल स्टोर्स संचालक ने अपने हस्ताक्षर नहीं किए हैं।
क्या है मामला
10 अप्रैल को 10 पेटी कफ सिरप जब अग्रवाल मोटर ट्रांसपोर्ट से अवतार मेडिकल स्टोर्स ले जाया जा रहा था तभी सिटी कोतवाली के 3 पुलिस वालों ने हाथठेले वाले को जयस्तंभ चौक के नजदीक धर दबोचा। थोड़ी देर बाद पुलिस वाले माल को सिटी कोतवाली ले गए। टीआई राघवेन्द्र द्विवेदी ने अवतार मेडिकल स्टोर्स के संचालक को तलब किया। मेडिकल स्टोर्स के संचालक ने थानेदार को ड्रग लाइसेंस के साथ-साथ शेड्यूल एच-1 का लाइसेंस भी दिखाया। यह लाइसेंस नशे के रूप में अत्याधिक उपयोग करने वाली दवाइयों के खरीद फरोख्त के लिए लिया जाता है।
बुरी फंसी पुलिस
सारे दस्तावेजों को देखकर सिटी कोतवाली पुलिस को अंदाजा हो गया कि इस मामले में वह बुरी तरह से फंस गई है सो, उसने नया पैंतरा चला। पुलिस ने एक पंचनामा बनाया जिसमें माल को अंधेरी पुलिया के पास से लावारिश हालत में जब्त होना दिखाया है। इस पंचनामा को लेकर एक एएसआई जब अवतार मेडिकल स्टोर्स प्रोपराइटर से हस्ताक्षर कराने पहुंचे तो उन्होंने साइन करने से दो टूक मना कर दिया।
डीआई ने भी की जांच
इस मामले में पुलिस ने सतना के प्रभारी ड्रग इंस्पेक्टर राधेश्याम बट्टी को भी पत्र लिखा था। श्री बट्टी अवकाश होने के बाद भी सतना पहुंचकर अवतार मेडिकल स्टोर्स गए और सभी जरूरी दस्तावेजों का परीक्षण किया। दस्तावेजों का परीक्षण करने के बाद डीआई ने अवतार मेडिकल स्टोर्स संचालक को क्लीनचिट दे दी। डीआई से क्लीनचिट मिलने के बाद अब पुलिस असमंजस की स्थिति में कि आखिरकार वह करे भी तो क्या करे। इधर, मेडिकल स्टोर्स संचालक ने सिटी कोतवाली पुलिस को लीगल नोटिस देने का मना बना लिया है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download