comScore

प्याज की क्यारी में लहलहा रहे थे गांजे के पेड़, 6 पेड़ बरामद

प्याज की क्यारी में लहलहा रहे थे गांजे के पेड़, 6 पेड़ बरामद

डिजिटल डेस्क, सिंगरौली (वैढ़न)। वैढ़न थाना अंतर्गत ग्राम बिहरा में रविवार को पुलिस ने गांजे के 6 पेड़ बरामद किए हैं। पुलिस को गांजे के पेड़ प्याज की क्यारी में लहलहाते मिले थे। सुबह करीब 8 बजे की गई यह कार्रवाई पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर की थी। जिसमें पुलिस ने पहले आरोपी बाबूचन्द्र साहू पिता छोटेलाल निवासी बिहरा के यहां दबिश दी। इसके बाद उसके खेत में जांच करने पर गांजे के 6 पेड़ मिले और इन सभी की ऊंचाई 5 से 6 फीट की थी। वजन कराने पर इन पेड़ से करीब 4.5 किलोग्राम गांजा बरामद किया गया है। जब्त गांजे की लागत करीब 45 हजार रुपए की आंकी जा रही है। थाना प्रभारी मनीष त्रिपाठी के नेतृत्व में की गई कार्रवाई में उपनिरीक्षक भीपेन्द्र पाठक, डीएन सिंह, अरविंद चौबे, पिंटू रॉय, संजय परिहार, महेश्र, प्रवीण, महिला आरक्षक शकुंतला शामिल रहे।

वीआईपी ड्यूटी में तैनात एएसआई शराब के नशे में धुत मिला-
रविवार को जिला मुख्यालय वैढ़न में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा व्यवस्था में एक तरफ जहां पुलिस फोर्स जुटी हुई थी। तो एक पुलिस महकमे का ही एक एएसआई रैंक का अधिकारी शराब के नशे में धुत होकर खाकी को शर्मसार कर रहा था। कार्यक्रम स्थल रामलीला ग्राउंड में वह पुलिस कर्मी जहां-तहां गिर-पड़ रहा था। उसे देखकर मौके पर मौजूद अन्य पुलिस वालों के होश उड़ गए। इसके बाद नशे में धुत्त पुलिस कर्मी को पुलिस अधिकारियों ने जमकर फटकार लगाई, लेकिन वह नशे में ऐसा मदहोश था कि उसे कोई खास फर्क नहीं पड़ रहा था। हालांकि इसके बाद अन्य पुलिस कर्मी जैसे-तैसे उसे अपने साथ लेकर बाहर गए। बताया जाता पुलिस कर्मी की इस हरकत के बाद अधिकारियों ने उसका मेडिकल टेस्ट भी कराया था, ताकि उसकी इस उदंडता पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। पुलिस कर्मी पुलिस लाइन में अटैच बताया जाता है। गनीमत यह रही कि उस पुलिस कर्मी को वीआईपी ड्यूटी में कोई संवेदनशील प्वाइंट नहीं दिया गया था।

11 वर्ष पुराने प्रकरण का इनामी बदमाश छग से गिरफ्तार-
वैढ़न थाने में दर्ज वर्ष 2008 के मारपीट के एक प्रकरण के फरार आरोपी को पुलिस ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के बलरामपुर से गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम अर्जुन उर्फ गोगई बैगा पिता रिबई बैगा निवासी गोनावास थाना रघुनाथनगर जिला बलरामपुर छत्तसीगढ़ बताया जाता है। वारदात के बाद से आरोपी रिहा हो गया था और पेशी से फरार चल रहा था, जिससे उसके खिलाफ अंतर्राज्यीय स्थायी वारंट भी जारी किया गया था। बताया जाता है आरोपी अपने गृह क्षेत्र से बाहर छिपकर रहता था और टीआई वैढ़न मनीष त्रिपाठी को मुखबिर से पता चला कि आरोपी अपने परिजनों से मिलने आया है। जिसके बाद उन्होंने छत्तसीगढ़ स्थित आरोपी के गांव पुलिस टीम भेजी और शनिवार की देर रात उसे वहां गोनावास के जंगल में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

कमेंट करें
1gL9i