comScore
Dainik Bhaskar Hindi

प्लेन की सीढ़ियां चढ़ रहे थे कमलनाथ, सुरक्षा में लगे आरक्षक ने तानी बंदूक

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 16th, 2017 09:35 IST

5k
0
0

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद कमलनाथ की सुरक्षा को लेकर को भारी चूक सामने आई है। शुक्रवार शाम दिल्ली लौट रहे कांग्रेस नेता कमलनाथ पर उनकी सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मी ने बंदूक तान दी। गौरतलब है कि कमलनाथ हवाई मार्ग से दिल्ली लौट रहे थे, तभी अचानक हवाई पट्टी पर उनकी सुरक्षा में तैनात एक पुलिस कर्मी ने उन पर करीब 10 फीट की दूरी से बंदूक तान दी।

बता दें कि जैसे ही पुलिसकर्मी रत्नेश पवार ने कमलनाथ पर बंदूक तानी वैसे ही सुरक्षा में लगे अन्य पुलिस कर्मियों ने उसे झपटकर पकड़ा और बाहर ले गए। घटना उस वक्त की है जब कमलनाथ हवाईजहाज की सीढिय़ां के नजदीक पहुंचे थे। तभी प्लेन के नजदीक पुलिसकर्मी की हरकत से हड़कंप मच गया। डीआईजी डॉ. जीके पाठक के मुताबिक आरोपी पुलिस कर्मी रत्नेश पवार को निलंबित कर दिया गया है। घटना की जांच एएसपी नीरज सोनी को सौंपी है। एमएलसी कराने के साथ ही उससे पूछताछ की जा रही है। इधर घटना के बाद कांग्रेस में आक्रोश है। कांग्रेस शनिवार को जिले भर में प्रदर्शन कर सुरक्षा में लापरवाही के खिलाफ ज्ञापन देगी।


 

कमलनाथ को दी गई है जेड श्रेणी की सुरक्षा

सांसद कमलनाथ को जेड श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। सीआरपीएफ के बंदूकधारी जवान तैनात रहते हैं। शुक्रवार को जिले में चार स्थानों में कमलनाथ  की सभाएं थीं। जिसमें सीआरपीएफ के जवान पूरे समय तैनात रहे। उमरेठ में जनसभा के बाद कमलनाथ हेलीकाप्टर से हवाईपट्टी छिंदवाड़ा पहुंचे, जबकि जवान कार में सवार थे। कमलनाथ पहले ही हवाईपट्टी पहुंच गए थे।

आरक्षक का साइको टेस्ट होगा

आरआई लालबहादुर बौद्ध का कहना है कि घटना के बाद पुलिस अधिकारियों ने आरक्षक रत्नेश पवार की प्राइमरी मेडिकल जांच कराई। जांच में बीपी, ईसीजी की जांच की गई। शनिवार को उसे मेडिकल बोर्ड के सामने पेश कर साइको टेस्ट कराया जाएगा।  हवाई पट्टी पर प्लेन की सुरक्षा में एक-चार की गार्ड लगाई गई थी। जिसमें आरक्षक रत्नेश पवार भी शामिल था। घटना की सूचना पर रोजनामचा में शिकायत दर्ज की गई है। 

(आरक्षक रत्नेश पवार)

पहले भी दो बार निलंबित हो चुका है आरक्षक

आरक्षक रत्नेश पवार को पहले भी दो बार निलंबित किया जा चुका है। हालांकि इस तरह की हरकत पहली बार सामने आई है। वर्ष 2010 और 2012 में बिना किसी पूर्व सूचना के ड्यूटी से गायब रहने के कारण उसे निलंबित किया गया था। 

सस्पेंड किया गया आरक्षक पवार

छिंदवाड़ा रेज के डीआईजी डॉ. जीके पाठक ने कहा कि आरक्षक रत्नेश पवार को निलंबित कर दिया है। पूछताछ में आरक्षक बंदूक तानने की बात को नकार रहा है। जांच के बाद गार्ड इंचार्ज पर भी कार्रवाई होगी। गार्ड इंचार्ज ही तय करता है कि किस सिपाही को कहां खड़ा होना है। जांच के आदेश, प्रभारी एसपी नीरज सोनी इसकी जांच कर रहे हैं। भविष्य में हवाई पट्टी पर वीआईपी सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी। गार्ड इंचार्ज को विशेष निर्देश दिए जाएंगे।

क्या कहना है प्रत्यक्षदर्शियों का ?

प्रत्यक्षदर्शी जय माहोरे ने बताया कि साहब (कमलनाथ) प्लेन की सीढियां चढ़ रहे थे और पीछे पलट कर उन्होंने अपना हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन किया। मैं जैसे ही पलटा तो मैंने देखा कि आरक्षक रत्नेश पवार की गन सीढ़ियों की तरफ थी, इसके बाद आसपास खड़े पुलिस कर्मी उसे  बाहर लेकर गए। इसके बाद हमने पुलिस  को इसकी शिकायत की। आरक्षक को देखकर लग रहा था कि उसने प्लेन की ओर गन लेकर पोजिशन की है। 

सुरेश कपाले के मुताबिक कमलनाथ जैसे ही हवाई पट्टी के दूसरे गेट से एयर स्ट्रीप तक पहुंचे उस दौरान ऐसा लगा था कि आरक्षक ने उनकी ओर गन तानी पर हमने इसे अनदेखा कर दिया। इसके बाद दोबारा प्लेन के पास भी गेट के पास भी ऐसा ही कुछ किया। इसकी शिकायत मैंने मौके पर उपस्थित कुंडीपुरा टीआई रत्नेश मिश्रा से की। जहां उन्होंने आरक्षक को फटकार लगाई। इस दौरान आरक्षक कह रहा था कि उसके कंधे से बंदूक फिसल गई थी। 

शनिवार को कांग्रेस सौंपेगी ज्ञापन

जिला कांग्रेस अध्यक्ष गंगा प्रसाद तिवारी का कहना है कि सांसद कमलनाथ की सुरक्षा में ऐसा होना घोर लापरवाही है। हम इसके विरोध में शनिवार दोपहर दो बजे एसपी और कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौपेंगे। जिसमें जिला कांग्रेस सहित सभी अनुसांगिक संगठन, कांग्रेस विधायक और कार्यकर्ता शामिल रहेंगे। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर