comScore

प्रद्युम्न के वकील से पुलिस ने की मारपीट, दी केस छोड़ने की धमकी

December 03rd, 2017 14:02 IST
प्रद्युम्न के वकील से पुलिस ने की मारपीट, दी केस छोड़ने की धमकी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गुरूग्राम स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दूसरी क्लास के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या का केस लड़ने वाले वकील सुशील कुमार टेकरीवाल ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि शनिवार रात पुलिस ने उनसे और उनकी पत्नी से मारपीट की और प्रद्युम्न ठाकुर का केस को छोड़ने की धमकी दी। उनके इस आरोप के बाद पुलिस ने बयान जारी कर कहा है कि VVIP मूवमेंट के चलते टेकरीवाल को रोका जा रहा था और उनसे कुछ मिनट इंतजार करने के लिए कहा गया, लेकिन टेकरीवाल नहीं माने और पुलिसकर्मियों के साथ बदतमीजी की। टेकरीवाल की पत्नी भी पुलिसकर्मियों के साथ लगातार बदतमीजी करती रहीं। उन्होंने मोबाइल पर वीडियो बनाकर पुलिसकर्मियों को डराने की भी कोशिश की। जबकि पुलिस सिर्फ अपना काम कर रही थी।

टेकरीवाल ने इस पूरे मामले को लेकर पुलिस कमिशनर को लेटर लिख शिकायत की है। उस लेटर में सुशील ने लिखा है कि शनिवार की रात वह अपने परिवार के साथ डिनर करने के लिए होटल अशोक गए हुए थे। तभी वहां जिप्सी में सवार तीन पुलिसकर्मी आए और उनके परिवार पर हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि हमलावरों ने मेरे साथ काफी देर तक मारपीट की और करीब 300 मीटर तक घसीटा। टेकरीवाल ने आगे लिखा है कि पुलिस कांस्टेबल ने अपनी बंदूक हम पर तान दी और वहां मौजूद इंस्पेक्टर यादव ने हमें दबोच लिया फिर उसके बाद उन्होंने हमारे साथ धक्का-मुक्की की, बंदूक की बट और बूट से शरीर के अंदरूनी हिस्सों में मारा-पीटा। मैं जमीन पर गिर पड़ा। साथ ही हमें उन्होंने जान से मारने की कोशिश भी की। वह हम पर चीख रहा था कि चूंकि हम रेयान स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या का केस देख रहे हैं, इसलिए हमें मार दिया जाएगा। उन्होंन हमें यह केस छोड़ने की धमकी दी और कहा कि नहीं तो हमें गंभीर परिणाम भुगतने को तैयाक रहें।

मैं सुप्रीम कोर्ट का वकील हूं
टेकरीवाल ने कहा कि जब वो मुझे मार रहे थे तो मैंने उनसा कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट में वकील हूं, बावजूद इसके उन्होंने मारना बंद नहीं किया। बता दें कि इन सबके बीच टेकरीवाल की पत्नी वाकये की अपने मोबाइल से वीडियोग्राफी करने लगीं। ये देख पुलिस वालों ने उन पर भी हमला कर दिया।

पुलिस ने आने में लगाया समय
टेकरीवाल का आरोप है कि घटना के बाद उन्होंने 100 नंबर पर कॉल किया। उनके कॉल करने के तकरीबन 15 मिनट के बाद पुलिस पहुंची। इतना ही नहीं पुलिस ने उनकी शिकायत भी नहीं दर्ज की। टेकरीवाल ने बताया कि पूरी वारदात मौके पर लगे सीसीटीवी में भी कैद हुई है। टेकरीवाल ने एक पुलिसकर्मी की वर्दी पर लगे बैज से उसकी पहचान संजीव कुमार यादव के रूप में की है।

कमेंट करें
2U4Fr