comScore

हज-2019 की तैयारी शुरू : इमारत की लिफ्ट बंद, फायर सिस्टम फेल, पाइप लाइन लीकेज

January 12th, 2019 19:10 IST
हज-2019 की तैयारी शुरू : इमारत की लिफ्ट बंद, फायर सिस्टम फेल, पाइप लाइन लीकेज

डिजिटल डेस्क, नागपुर। हज यात्रियों की सुविधा के लिए हज हाउस का निर्माण भालदारपुुरा में किया गया, लेकिन समस्याएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। हज हाउस के दोनों लिफ्ट बंद पड़े हैं। फायर सिस्टम खराब हो चुका है और बाथरूम में लीकेज के कारण बहता है गंदा पानी। आपात स्थिति में बिजली आपूर्ति के लिए जनरेटर की व्यवस्था नहीं है। महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी ने हज-2019 की तैयारी शुरू कर दी है। राज्य हज कमेटी ने शनिवार, 12 जनवरी को हज हाउस में हज से जुड़े संस्था-संगठनों के प्रतिनिधियों और स्वयंसेवकों की बैठक बुलाई है। बैठक में राज्य हज कमेटी कमेटी के कार्यकारी अधिकारी इम्तियाज काजी, सेक्शन आफिसर जीपी मगदूम सुविधाओं का जायजा लेंगे। 

हज हाउस में ओमेगा कंपनी की दो लिफ्ट है, जो एक साल के भीतर ही खराब हो गई थी। हज के दौरान एक लिफ्ट चालू की गई थी, लेकिन अब वह भी बंद हो गई है। बंद लिफ्ट की मरम्मत के लिए 1 लाख 45 हजार रुपए की निधि को मंजूरी प्रदान की है। लिफ्ट के काम का कार्यादेश जारी हो गया है। लिफ्ट में चारों ओर सादे कांच लगाए गए हैं, जो टूटने पर बड़ा हादसा हो सकता है। इसे टालने के लिए तपन कांच लगाया जाना चाहिए। हज यात्रियों का सामान ढोने के लिए हज हाउस के पिछले हिस्से में लोडर लिफ्ट लगाने की योजना थी जो ठंडे बस्ते में पड़ी है। 

हज हाउस में आगजनी की स्थिति में बचाव के लिए फायर फाइटर लगाए गए हैं, जो निम्न दर्जे का होने का कारण पूरा सिस्टम खराब हो गया है। पाइप गल कर टूट चुके हैं। वॉल्व खराब हो गए हैं। फायर सेंसेटिव ठीक नहीं है। फायर फाइटर के पाइप खराब होने के कारण अनहोनी होने पर काबू पाना मुश्किल होगा। विधान परिषद सदस्य हुस्ना बानो ने फायर फाइटर सिस्टम की रिपोर्ट बनाकर महानगरपालिका को सौंपी थी। मनपा ने नया फायर फाइटर लगाने के लिए 50 लाख 47 हजार रुपए का बजट बनाकर महाराष्ट्र राज्य हज कमेटी को भेजा था। राज्य हज कमेटी को सिर्फ 50 हजार रुपए खर्च करने का अधिकार ने अल्पसंख्यक विभाग को पत्र भेजा है, लेकिन अल्पसंख्यक विभाग ने कोई कदम नहीं उठाया।     

15 करोड़ की लागत से निर्माण
नागपुर इंबारकेशन सेंटर से नागपुर सहित पूरे विदर्भ, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश के चार जिलों के लोग हज यात्रा पर जाते हैं। नागपुर से हज पर जाने वाले यात्रियों की रवानगी और ठहरने की व्यवस्था के मद्देनजर तत्कालीन अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री अनीस अहमद ने हज हाउस के निर्माण के लिए पहल की थी। उन्होंने इसके लिए 15 करोड़ की निधि उपलब्ध कराई थी। राज्य सरकार ने 2011 में भालदारपुरा स्थित जूना जेलखाना की जमीन पर हज हाउस का निर्माण किया था। हज हाउस का निर्माण नासुप्र ने किया है।

हज हाउस का निर्माण करने वाली एस.एस. पाटील कंपनी ने 14 अक्टूबर 2011 को 100 रुपए के स्टाम्प पेपर पर लिखकर दिया है कि वह 10 साल तक हज हाउस का काम देखेंगी। कंपनी ने वाटरप्रूफ बाथरूम का वादा किया है। सन 2021 तक हज हाउस के बाथरूम में लीकेज, क्रेक आदि का काम कंपनी करेगी।
 

कमेंट करें
Yc05f