comScore

बुलंदशहर हिंसा : मुख्य आरोपी का वीडियो आया सामने, खुद को बताया बेकसूर

December 06th, 2018 11:56 IST

हाईलाइट

  • बुलंदशहर में भड़की हिंसा का मुख्य आरोपी और बजरंग दल संयोजक योगेश राज अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।
  • योगेश राज का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह सफाई पेश कर रहा है।
  • योगेश ने इस वीडियो में खुद को बेकसूर बताया है।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। गोमांस मिलने के बाद बुलंदशहर में भड़की हिंसा का मुख्य आरोपी और बजरंग दल संयोजक योगेश राज अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। इस बीच योगेश राज का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह सफाई पेश कर रहा है। योगेश ने इस वीडियो में खुद को बेकसूर बताया है। उसका कहना है कि वह घटना वाले दिन मौके पर नहीं बल्कि थाने में मौजूद था।

योगेश राज ने वीडियो में कहा, 'आप बुलंदशहर के स्याना में हुई गोकशी प्रकरण को देख रहे होंगे। पुलिस मुझे इस प्रकार प्रस्तुत कर रही है, जैसे कि मेरा कोई बहुत बड़ा आपराधिक इतिहास हो। मैं आप सब लोगों को यह बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटनाएं घटित हुई थी। पहली घटना स्याना के नजदीक गांव महाव में गोकशी की हुई। जिसकी सूचना पाकर मैं अपने साथियों के साथ मौके पर पहुंचा था। प्रशासनिक लोग भी वहां पर पहुंचे थे और मामले को शांत करके हम सब लोग अपने साथियों सहित स्याना थाने में मुकदमा लिखवाने आ गये थे।

थाने में बैठे बैठे जानकारी मिली कि घटना स्थल पर ग्रामीणों ने पथराव कर दिया है और वहां पर फायरिंग हुई है जिसमें एक युवक को गोली लगी है। एक पुलिसवाले को भी गोली लगी है।' उन्होंने कहा 'जब हमारी मांग मानते हुए मामला स्याना थाने में लिखा जा रहा था तो बजरंग दल कोई आंदोलन प्रदर्शन क्यों करता।' योगेश ने कहा, 'मैं दूसरी घटना में उक्त स्थल पर मौजूद नहीं था। मेरा दूसरी घटना से कोई लेना देना नहीं है। ईश्वर मुझकों न्याय दिलाएंगे। मुझे ऐसा भगवान पर पूर्ण भरोसा है। धन्यवाद।'

बता दें कि गोकशी के शक में 300-400 लोगों की भीड़ ने बुलंदशहर के स्याना में हिंसक प्रदर्शन किया था। जिसमें एक पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह समेत दो लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में 50 से ज्यादा लोगों की खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 333, 353, 427, 436, 394, 147, 148, 149, 307 और 7 क्रिमिनल अमेंडमेंट लॉ के तहत FIR दर्ज की है। पुलिस योगेश राज के इस मामले का मुख्य आरोपी बता रही है। योगेश राज वहीं शख्स है जिसने गोमांस मिलने के बाद सबसे पहले थाने में FIR दर्ज करवाई थी। इस मामले की जांच के लिए SIT का भी गठन किया है। 

Loading...
कमेंट करें
UvAwN
Loading...