comScore

पीएम मोदी ने बेयर के साथ पार की ठंडी हिमालयन रिवर, पी नीम वाली चाय

पीएम मोदी ने बेयर के साथ पार की ठंडी हिमालयन रिवर, पी नीम वाली चाय

हाईलाइट

  • बेयर ग्रिल्स और पीएम मोदी के साथ मैन वर्सेज वाइल्ड का स्पेशल एपिसोड प्रसारित हुआ
  • ये एपिसोड उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में शूट किया था
  • शो के दौरन राफ्ट में बैठकर पीएम मोदी ने ठंडी हिमालयन नदी पार की

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बेयर ग्रिल्स और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ मैन वर्सेज वाइल्ड शो का स्पेशल एपिसोड सोमवार रात 9 बजे डिस्कवरी नेटवर्क पर प्रसारित किया गया। एक घंटे के इस एपिसोड को उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में शूट किया गया था। शो के दौरन लकड़ी से बने राफ्ट पर बैठकर पीएम मोदी ने ठंडी हिमालयन रिवर पार की। नदी पार करने के बाद दोनों ने मीठी नीम की पत्ति डालकर गर्म चाय भी पी। पीएम ने बताया कि ये उनके लिए नया नहीं है उन्होंने अपना बचपन ऐसे ही बिताया है। पूरे शो के दौरान पीएम ने अपने अनुभव बेयर के साथ साझा किए।

शो की शुरुआत में पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने बेयर ग्रिल्स से कहा कि आप पहली बार भारत आए हो? इस पर बेयर ने जवाब दिया कि मैं पहली बार भारत नहीं आया हूं। सबसे पहले 18 साल की उम्र में भारत आया था। प्रकृति को लेकर बातचीत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अगर हम प्रकृति के साथ संघर्ष करेंगे तो मनुष्य भी खतरनाक लगेगा।  इसके बाद दोनों जंगल की तरफ बढ़ गए। इस दौरान सीक्रेट सर्विस भी उनकी सुरक्षा के लिए उनके पीछे रही। 

पीएम मोदी ने बेयर को अपने बचपन के बारे में बताया। उन्होंने बेयर से कहा कि बचपन में वह कपड़े धोने और नहाने के लिए साबुन की जगह सॉल्ट लेयर का उपयोग करते थे। बचपन में वह किस तरह से रहते थे, इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि 'मैं स्कूल में हमेशा परफेक्ट रहता था। स्कूल यूनिफॉर्म पर तांबे के बरतन में कोयला भरकर प्रेस करता था। हमेशा कोशिश करता था कि साफ सुथरा रहूं।' उन्होंने कहा कि वह रेलवे प्लेटफॉर्म पर लोगों को चाय पिलाते थे। पीएम ने कहा कि उनकी जिंदगी बनाने में रेलवे का अहम रोल रहा है।

जंगल में आगे बढ़ते हुए दोनों ने नेशनल पार्क में मौजूद टाइगर से बचने के लिए भाला बनाया। हालांकि पीएम ने कहा कि मेरे संस्कार मुझे किसी भी जानवर को मारने की इजाजत नहीं देते और दोनों नदी की तरफ बढ़ गए। दोनों ने लकड़ी से बने राफ्ट पर बैठकर ठंडी हिमालयन रिवर पार की। इस दौरान बचपन का एक किस्सा शेयर करते हुए पीएम ने बेयर को बताया कि वह एक बार नहाने गए थे और इस दौरान वह मगरमच्छ का एक बच्चा पकड़कर अपने घर ले आए। उनकी मां ने कहा कि ऐसा करना ठीक नहीं है और फिर वह उसे वापस पानी में छोड़कर आ गए।

इस सफर के अंत में पीएम मोदी ने कहा कि इससे पहले कि हम प्रकृति के साथ कुछ भी गलत करें, हमें अपनी आने वाली पीढ़ियों के बारे में सोचना चाहिए। उन्होंने कहा, यह एक अद्भुत अनुभव था। मुझे उम्मीद है कि इस एपिसोड के माध्यम से हम भारत के बारे में दुनिया को एक सकारात्मक संदेश भेज सकते हैं। बेयर ग्रिल्स ने नरेंद्र मोदी और भारत के लिए प्रार्थना भी की। बता दें कि इस एपिसोड का फोकस पर्यावरण परिवर्तन और वन्यजीव संरक्षण को लेकर लोगों को जागरुक करना था।

कमेंट करें
XuKQC