comScore

PM में मोदी ने किया सबसे लंबे रेल-सड़क पुल का उद्घाटन, अरुणाचल पहुंचने में 10 घंटे बचेंगे

December 25th, 2018 22:08 IST

हाईलाइट

  • आज देश को मिलेगी बड़ी सौगात
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे देश के सबसे लंबे रेल-सड़क पुल का उद्घाटन
  • पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर पहली यात्री रेलगाड़ी को दिखाएंगे हरी झंडी

डिजिटल डेस्क,बोगीबील। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (मंगलवार) को देश के सबसे लंबे रेल सह सड़क पुल का शुभारंभ किया। पीएम मोदी ने बोगीबील पुल से गुजरने वाली पहली यात्री रेलगाड़ी को हरी झंडी दिखाई। बोगीबील पुल असम के डिब्रूगढ़ जिले में ब्रह्मपुत्र नदी के दक्षिण तट को अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती धेमाजी जिले में सिलापाथर को जोड़ेगा। पीएम मोदी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की वर्षगांठ के अवसर पर देश को ये पुल के सुगम सौगात के रूप में दी है।

इस पुल के शुरू होने के साथ ही तिनसुकिया से अरुणाचल प्रदेश नाहरलगुन कस्बे तक रेलायात्रा में लगने वाले समय में 10 घंटे की बचत होगी। इस पुल के निर्माण से तिनसुकिया-नाहरलगुन इंटरसिटी एक्सप्रेस सप्ताह में पांच दिन चलेगी। कुल 4.9 किलोमीटर लंबे इस पुल की मदद से असम के तिनसुकिया से अरुणाचल प्रदेश के नाहरलगुन कस्बे तक की रेलयात्रा में कम समय में पूरी हो सकेगी।

बता दें कि पूर्वोत्तर फ्रंटियर रेलवे के प्रवक्ता नितिन भट्टाचार्य ने बताया, मौजूदा समय में इस दूरी को पार करने में 15 से 20 घंटे का समय की तुलना में अब इसमें साढ़े पांच घंटे का समय लगेगा। कुल 14 कोचों वाली यह चेयर कार रेलगाड़ी तिनसुकिया से दोपहर में रवाना होगी और नाहरलगुन से सुबह वापसी करेगी। इससे पहले यात्रियों को रेल भी कई बार रेल बदलनी पड़ती थी, लेकिन अब बिना रेल बदले आसानी से तिनसुकिया से नाहरलगुन पहुंचा जा सकेगा। यह पुल और रेल सेवा धेमाजी के लोगों के लिए अति महत्वपूर्ण होने जा रही है, क्योंकि मुख्य अस्पताल, मेडिकल कॉलेज और हवाई अड्डा डिब्रूगढ़ में हैं। इससे ईटानगर के लोगों को भी लाभ मिलेगा, क्योंकि यह इलाका नाहरलगुन से केवल 15 किलोमीटर की दूरी पर है।

बोगीबील पुल से जुड़ी जानकारी

  • एशिया का दूसरा भारत पहला सबसे लंबा रेल-सड़क पुल होगा बोगीबील
  • इस पुल की मियाग कम से कम 120 साल होगी 
  • इस पुल का निर्माण ब्रह्मपुत्र नदी पर किया गया है
  • 4.9 किलोमीटर लंबा है पुल
  • पुल निर्माण में खर्च हुए हैं 5,900 करोड़ रूपये
  • पुल निर्माण से दिल्ली से डिब्रूगढ़ रेल यात्रा समय तीन घंटे घट कर 34 घंटे रह जाएगा
  • तिनसुकिया से अरुणाचल प्रदेश नाहरलगुन कस्बे तक रेलायात्रा में लगने वाले समय में 10 घंटे की बचत होगी।
कमेंट करें
RsZbB