comScore

चुनाव ड्यूटी में मृत शिक्षकों का अनुदान का प्रस्ताव चुनाव आयोग भेजा जाएगा

चुनाव ड्यूटी में मृत शिक्षकों का अनुदान का प्रस्ताव चुनाव आयोग भेजा जाएगा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। चुनाव ड्यूटी निपटाकर घर लौट रहे शिक्षकों की दुर्घटना में मौत हो गई। जिला प्रशासन की तरफ से दोनों मृत शिक्षकों को सानुग्रह अनुदान देने का प्रस्ताव राज्य के निर्वाचन अधिकारी को भेजा जा रहा है। मृत शिक्षकों के परिजनों को अब नए आदेश के मुताबिक 15-15 लाख सानुग्रह अनुदान मिल सकता है। पुराने नियमों पर गौर करे तो सानुग्रह अनुदान की निधि 10-10 लाख है। याद रहे निजी अनुदानित स्कूलों में कार्यरत पुंडलिक बाहे (56), नुकेश मेंडुले (37), नरेंद्र पिपरे (53) व बहुरुपी की ड्यूटी रामटेक लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के तहत आनेवाले उमरेड विधानसभा क्षेत्र में लगी थी। 11 अप्रैल को चुनाव ड्यूटी पूरी करने के बाद चारों ने चुनाव सामग्री जमा की। चारों कार से उमरेड से अपने घर नागपुर आ रहे थे। कार चालक नरेेंद्र पिपरे को झपकी लगी और कार बेकाबू होकर पेड से जा टकराई। कार में सवार पुंडलिक बाहे व नुकेश मेंडुले की मृत्यु हुई, जबकि गंभीर रूप से घायल नरेंद्र पिपरे व बहुरुपी का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

सूत्रों के अनुसार जिला प्रशासन मृतकों के परिजनों को सानुग्रह अनुदान देनेसंबंधी प्रस्ताव शीघ्र ही राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भेजेगा। यहां से मंजूरी मिलने के बाद यह प्रस्ताव सरकार के पास जाएगा। पहले के नियमों पर गौर करे तो चुनाव ड्यूटी के दौरान मृत व्यक्ति के परिजन को 10 लाख सानुग्रह अनुदान का प्रावधान है। राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग ने हाल ही में जीआर जारी कर अनुदान की राशि 10 लाख से बढ़ाकर 15 लाख कर दी है। इन दोनों को नए नियमों का लाभ मिल सकता है। विकलांग होने पर 7.50 लाख का सानुग्रह अनुदान देने का प्रावधान है। दोनों घायलों की डाक्टरी रिपोर्ट मिलने के बाद ही इन्हें कितनी आर्थिक मदद दी जा सकती है, इस पर निर्णय होगा। 

15-15 लाख मिलने चाहिए 

चुनाव ड्यूटी पूरी करके घर लौटते समय दुर्घटना में मृत पुंडलिक बाहे व नुकेश मेंडुले के नए आदेश के मुतबिक 15-15 लाख का अनुदान मिलना चाहिए। इसीतरह घायलों का इलाज सरकारी खर्च पर होना चाहिए। कर्मचारियों ने इससंबंध में एक निवेदन जिला प्रशासन को दिया है। मृतकों व घायलों को तुरंत आर्थक मदद मिलनी चाहिए। 
-सोहन चौरे, अध्यक्ष कास्ट्राइब कर्मचारी संगठन जिला परिषद नागपुर.


चुनाव आयोग को भेजा जा रहा प्रस्ताव 

चुनाव ड्यूटी पूरी करके लौटते समय हुई दुर्घटना में मृत दोनों शिक्षकों का सानुग्रह अनुदान का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। शीघ्र ही यह प्रस्ताव राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को भेजा जाएगा। वहां से यह प्रस्ताव सरकार के पास जाएगा। 10-10 लाख अनुदान का प्रावधान है। नया आदेेश इन पर लागू होता है, तो नए प्रावधान के मुताबिक प्रस्ताव भेजा जाएगा। प्रशासन अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ेगा।  -रवींद्र खजांजी, निवासी उपजिलाधीश नागपुर

कमेंट करें
OaTRo