comScore

पुणे की कंपनी ने नागपुर के 450 निवेशकों को 60 लाख से ठगा , मल्टीलाइन मार्केटिंग के झांसे में आकर गंवाई रकम

पुणे की कंपनी ने नागपुर के 450 निवेशकों को 60 लाख से ठगा , मल्टीलाइन मार्केटिंग के झांसे में आकर गंवाई रकम

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शैक्षणिक व पर्यटन पैकेज योजना के नाम पर नागपुर में निवेशकों से 60 लाख से अधिक धोखाधड़ी किए जाने का मामला सामने आया है। यह कंपनी मल्टीलाइन मार्केटिंग की तरह कार्य करते हुए निवेशकों को एक व्यक्ति के जोड़ने पर 2500 रुपए का शैक्षणिक व पर्यटन पैकेज देने का लालच दिया करती थी। निवेशकों को कंपनी की जालसाजी पर कोई संदेह न हो इसलिए शुरूआत में कुछ लोगों को यह पैकेज दिया गया। पुणे की इस कंपनी ने नागपुर में मल्टीलाइन मार्केटिंग के नाम पर 450 से अधिक निवेशकों के साथ 60 लाख से अधिक की ठगी की। इस प्रकरण में शिकायतकर्ता सचिन चौधरी की शिकायत पर प्रताप नगर पुलिस ने उक्त मल्टीलाइन मार्केटिंग कंपनी के  सीएमडी, नेशनल प्रमोटर सहित अन्य आरोपियों पर धारा 420,406,34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। 

नागपुर में सुपर लाइफ हेल्थ केयर नाम से कार्यालय
कंपनी का मुख्य कार्यालय पुणे में शुरू किया गया है। कंपनी ने नागपुर में भी सुपर लाइफ हेल्थ केयर के नाम से कार्यालय शुरू किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सेवाग्राम के मूल निवासी सचिन चौधरी नागपुर के पांडे ले-आउट स्थित प्रणव अपार्टमेंट में फ्लैट नं.-201 में रहते हैं। सचिन ने प्रताप नगर थाने में सुपर लाइफ हेल्थ केयर कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है। उसने पुलिस को बताया कि, पुणे में स्वारगेट की पहली मंजिल पर सुपर लाइफ हेल्थ केअर का कार्यालय है। पुणे की इस मल्टीलाइन मार्केटिंग कंपनी के  जयंेद्र बालू पवार (45) नेशनल प्रमोटर,  38 वर्षीय मुलूक वरिष्ठ उर्फ राजकुमार शर्मा, सीएमडी, ऋतुजा जयेंद्र पवार और मेघना चव्हाण, पुणे निवासी ने खुद के आर्थिक फायदे के लिए नागरिकों के साथ ठगी की।

आरोपी जयेंद्र पवार, मुलूक शर्मा, ऋतुजा पवार (जयेंद्र पवार की पत्नी) और मेघना चव्हाण ने नागपुर में  26 अगस्त-2018 को नागपुर में सुपर लाइफ हेल्थ केयर के नाम पर मल्टीलाइन मार्केटिंग कंपनी की शुरूआत की। कंपनी ने प्रताप नगर स्थित  प्लाॅट नं.-35, आनंद अपार्टमंेट, कोतवाल नगर में कंपनी का कार्यालय शुरू कर ऑनलाइन शैक्षणिक आैर पर्यटन पैकेज योजना में निवेशकों को निवेश करने का लालच देना शुरू किया। सचिन शंकरराव चौधरी (38) धन्वंतरि नगर, अंबुलकर ले-आउट, वरूड़ ग्राम पंचायत, सेवाग्राम, वर्धा निवासी व अन्य निवेशकों को अच्छी कमाई करने व अधिक पैसे कमाने का लालच दिया। सचिन कंपनी के उक्त आरोपियों के बहकावे में आ गए।

सचिन ने पुलिस को बताया कि, उसी तरह अन्य निवेशक भी उक्त आरोपियों के झांसे में आ गए। आरोपियों के छलावे में आकर सचिन ने कंपनी में 3,93,721 रुपए निवेश कर दिया। सचिन की तरह आराेपियों की उक्त कंपनी में 454 निवेशकों से आरोपियों ने करीब 60,30,779 रुपए ऐंठ लिए। उसके बाद आरोपियों ने निवेशकों से जो वादे किए थे, उसको लेकर टालमटोल शुरू कर दी। सचिन को आरोपियों की सारी करतूत समझ में आ चुकी थी। वह अपने पैसे मांगने लगा तब आरोपियों ने आनाकानी शुरू कर दी। अंत में सचिन चौधरी ने प्रताप नगर थाने में शिकायत की। पुलिस ने उक्त आरोपियों के खिलाफ ठगी का मामला दर्ज कर लिया है।

कमेंट करें
3aS2q