comScore
Dainik Bhaskar Hindi

PNB ने कहा- नीरव मोदी पैसा लौटाने आए थे, लेकिन बिना प्लान के

BhaskarHindi.com | Last Modified - February 16th, 2018 08:42 IST

5.6k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में हुए 11,356 करोड़ का घोटाला सामने आने के बाद बैंक ने गुरुवार को अपनी सफाई दी। बैंक की तरफ से मैनेजिंग डायरेक्टर (एमडी) सुनील मेहता ने कहा कि 'इस घोटाले की रकम वसूलने का काम शुरू हो चुका है और आरोपी की संपत्ति जब्त करने की तैयारी चल रही है।' उन्होंने कहा कि 'बैंक इस घोटाले के दोषियों को पकड़ने और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा रहा है।' सुनील मेहता ने कहा कि आरोपियों को भारत लाने की पूरी कोशिश की जाएगी।

2011 में हुआ था घोटाला, हमने ही किया खुलासा

पंजाब नेशनल बैंक के एमडी सुनील मेहता ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 'आप सबको पता है कि पीएनबी 133 साल पुरानी संस्था है। इसकी स्थापना स्वदेशी आंदोलन के दौरान स्वतंत्रता सेनानी लाला लाजपत राय ने की थी। इस दौरान हमने कई उतार-चढाव देखे हैं। इस घोटाले में हम आपसे सहयोग चाहते हैं।' उन्होंने कहा कि '2011 में ये मामला शुरू हुआ था। हमें जैसे ही इसके बारे में पता चला तो हमने इसकी जांच की। हमने इसके लिए एडवाइजरी भी जारी की। सेबी को भी बताया। हम क्लीन बैंकिंग का जो एजेंडा है, उसके तहत कार्रवाई कर रहे हैं। फिर चाहे वो कस्टमर हो या स्टाफ।' मेहता ने आरे कहा कि 'बैंक गलत काम करने वालों पर कार्रवाई के लिए पूरी ताकत से काम कर रहा है। 2011 से हो रहे इस फर्जीवाड़े के बारे में पहले हमारे ही बैंक ने एजेंसियों को बताया था।'

ये कैंसर की तरह है, इसका सफाया किया जाएगा

आगे बोलते हुए सुनील मेहता ने कहा कि 'इस मामले में बैंक के स्टाफ मिस्टर शेट्टी और एक अन्य को आरोपी बनाया गया है। जनवरी में हमें इस फर्जीवाड़े का पता चला तो हमने 29 जनवरी को सीबीआई में शिकायत की 30 जनवरी को FIR दर्ज हो गई।' उन्होंने बताया कि 'इस मामले में कई लोगों का हाथ है और बैंक में जो लोग थे, उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। हम किसी भी गलत काम को बढ़ावा नहीं देंगे।' उन्होंने आगे कहा कि 'हम एक साफ-सुथरा और जिम्मेदार बैंक हैं और जब भी कोई गड़बड़ी सामने आती है, तो हम मजबूती से उसका सामना करते हैं। ये मामला भी कैंसर सर्जरी की तरह है और इसका सफाया किया जाएगा।' मीडिया में देरी से सामने आने का कारण बताते हुए एमडी सुनील मेहता ने कहा कि इससे ज्यादा जरूरी जांच एजेंसियों का सहयोग करना था।

नीरव मोदी पैसा लौटाने आए थे, लेकिन बिना प्लान के

इसके आगे PNB के एमडी सुनील मेहता ने मीडिया के सवालों के जवाब भी दिए। जब मेहता से पूछा गया कि नीरव के पास पैसे लौटाने का कोई प्लान था या नहीं। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि 'नीरव मोदी हमारे पास पैसा वापस करने आए थे, लेकिन उनके पास कोई पुख्ता प्लान नहीं थे।' उन्होंने कहा कि 'हमने माना है कि हमारे कर्मचारियों ने सिस्टम से धोखा किया है और इसलिए उनके खिलाफ केस भी दर्ज कराया गया है। आप यकिन मानिए कि कोई कितना भी बड़ा क्यों न हो, हम किसी को छोड़ने वाले नहीं है। ये हमारी साख का सवाल है।' उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच तेजी से चल रही है और आपको हर बात की जानकारी दी जाएगी। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download