comScore

'कबूतरबाजी' में दलेर मेहंदी को कोर्ट ने सुनाई 2 साल की सजा, हुई गिरफ्तारी

March 16th, 2018 18:22 IST

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पंजाब की पटियाला कोर्ट ने पंजाबी गायक दलेर मेहंदी को मानव तस्करी के मामले में दोषी करार दे दिया गया है। उन्हें गैर कानूनी तरीके से लोगों को विदेश भेजने के मामले में दोषी पाया गया है। दलेर मेहंदी को दो साल की सजा सुनाई गई है। सजा के ऐलान के बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया है। दलेर मेंहदी के साथ ही उनके भाई शमशेर सिंह को भी दोषी पाया गया।

2003 में ही दर्ज हुआ था केस

बता दें कि 19 सितंबर, 2003 में शमशेर मेहंदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। शमशेर मेहंदी, दलेर मेहंदी के बड़े भाई हैं। पुलिस पूछताछ में दलेर मेहंदी का नाम भी इस मामले में आया था। जिसके बाद 2003 में ही उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया था। अब 15 साल बाद इस मामले में फैसला आया है। इस मामले में दलेर के खिलाफ कुल 31 मामले पाए गए थे। इनमें पहला मामला अमेरिका में 2003 में ही दर्ज किया गया था। आरोप था कि दलेर मेहंदी जब अपने शो के लिए विदेश जाते थे, तो कई लोगों को वह अपने साथ विदेश ले जाते थे।

पैसे लेकर विदेश में छोड़े देते थे

दलेर मेहंदी के खिलाफ ये मामला बख्शीश सिंह नामक शख्स ने दर्ज करवाया था। जिसमें आरोप लगाया गया था कि दलेर मेहंदी ने लोगों से कई सारे पैसे लिए थे। अपने भाई के साथ 1998-99 के दौरान 10 लोगों को गैरकानूनी रूप से विदेश ले गए थे। वह 1998 और 1999 में दो बार अमेरिका गए थे। इसके बाद 1999 में दोनों भाई अमेरिका गए और वहां तीन लड़कों को छोड़ आए।    

 
दलेर मेहंदी का असली नाम दलेर सिंह है। दलेर मेहंदी ने 1991 में अपना ग्रुप बनाया था। मैग्नासाउंड ने दलेर मेहंदी को 'बोलो ता रा रा' एल्बम के साथ बेहतरीन ढंग से डेब्यू किया था। इस एल्बम की दो करोड़ कॉपी बिकी थीं। जिसके बाद दलेर रातो-रात फेमस हो गए। इस एल्बम से वे पॉप स्टार बन गए। उसके बाद उनकी एल्बम 'डरदी रब रब' आई और इसने तो उनकी पहली एल्बम की कामयाबी को भी पीछे छोड़ दिया। 'मृत्युदाता' फिल्म में वे अमिताभ बच्चन के साथ नजर आए और उनके लिए 'ना ना ना रे' गाना कम्पोज किया।दलेर मेहंदी का 'रंग दे बसंती (2006)' का टाइटल सॉन्ग 'रंग दे बसंती' उनके सबसे ज्यादा हिट सॉन्ग में से है।
 

कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 43 | 25 April 2019 | 08:00 PM
KKR
v
RR
Eden Gardens, Kolkata