comScore

रघुराम राजन बोले- देश में नौकरी नहीं, फिर कैसे 7 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा भारत


हाईलाइट

  • रघुराम राजन ने भारतीय अर्थव्यवस्था के 7% की दर से बढ़ने को लेकर संदेह व्यक्त किया है।
  • रघुराम राजन ने कहा कि जब देश में पर्याप्त नौकरियां नहीं हैं, तो जीडीपी दर कैसे बढ़ सकती है।
  • राजन ने कहा कि इससे संबंधित सभी डेटा को देखने की जरूरत है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने मंगलवार को भारतीय अर्थव्यवस्था के 7 प्रतिशत की दर से बढ़ने को लेकर संदेह व्यक्त किया है। रघुराम राजन ने कहा कि जब देश में पर्याप्त नौकरियां नहीं हैं, तो जीडीपी दर कैसे बढ़ सकती है। राजन ने कहा कि इससे संबंधित सभी डेटा को देखने और उसे समझाने के लिए एक निष्पक्ष निकाय नियुक्त करने की जरूरत है।

इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड (IMF) के पूर्व चीफ इकोनॉमिस्ट राजन ने कहा कि GDP को लेकर जो आंकड़े इस वक्त दिए जा रहे हैं, वह सही नहीं हैं। राजन ने कहा, मुझे लगता है कि भारत की वास्तविक विकास दर पता लगाने के लिए एक सही ईकाई बनाने की आवश्यकता है। मैंने कुछ दिनों पहले एक मंत्री को यह कहते हुए सुना था कि रोजगार उत्पन्न किए बिना भी भारत 7 प्रतिशत की दर से विकास कर रहा है। यह कैसे संभव है? इसका एक साधारण सा जवाब यह है कि देश 7 प्रतिशत की दर से बढ़ ही नहीं रहा। 

राजन ने कहा, रोजगार उत्पन्न करने के लिए देश का विकास जरूरी है। इसके लिए हमें सबसे पहले यह पता करना होगा कि भारत की विकास दर कितनी है। हमें विकास दर से संबंधित सभी कन्फ्यूजन को दूर करने की जरूरत है। देश को व्यापक विकास दर चाहिए, जो लोगों के लिए रोजगार पैदा कर सके।

राजन ने कहा, 'हमें इस बात पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए कि कैसे हम बड़ी संख्या में बेरोजगरा लोगों के लिए अच्छी नौकरियां पैदा करें। हमें उन लोगों के बारे में सोचने की जरूरत है जो स्कूल छोड़ रहे हैं, जो कृषि छोड़ रहे हैं, जो यूनिवर्सिटी से पास हो रहे हैं। उनको सही रोजगार दिला के ही हम भारत के विकास को नई दिशा दे सकते हैं। 

Loading...
कमेंट करें
PDw8I
कमेंट पढ़े
Dinesh March 31st, 2019 20:27 IST

जिस देश के चौकीदारी चौथी पास तथा उसके अध्यक्ष लुटेरा तो देश की अर्थव्यवस्था 7 कैसे हो सकती है ।चौकीदार झूठा अपने ही देश वासी को मंगल गान सुना रहे है ।सोचो मित्र

Loading...
loading...