comScore

वायनाड से नामांकन भरने के बाद बोले राहुल, 'सीपीएम के खिलाफ एक शब्द नहीं बोलूंगा'


हाईलाइट

  • कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने वायनाड से नामांकन दाखिल किया। 
  • प्रियंका गांधी के साथ किया रोड शो।
  • वायनाड के अलावा राहुल अमेठी से भी चुनाव मैदान में उतरेंगे।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को केरल की वायनाड लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल किया। नामांकन के वक्त पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। नामांकन के बाद राहुल गांधी ने वायनाड में ही प्रियंका गांधी के साथ रोड शो किया। इस दौरान एक हादसा भी हो गया जिसमें तीन पत्रकार जख्मी हो गए।


राहुल गांधी के रोड शो के कवरेज के दौरान बैरिकेड टूटने से तीन पत्रकार घायल हो गए। हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तुरंत पत्रकारों की मदद की और उन्हें एम्बुलेंस में बैठाया। 

वायनाड में राहुल गांधी ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा, देश एक है, ये संदेश देने वायनाड आया हूं। संस्कृति पर जो हमला हो रहा है इसके खिलाफ हमने संदेश देने की कोशिश की है। प्रधानमंत्री मोदी या सीएम योगी क्या कहते हैं, मुझे इससे कोई लेना देना नहीं है। मेरे लिए सिर्फ दो मुद्दे हैं- किसान और बेरोजगारी। राहुल ने कहा, सीपीएम के नेता हमारे खिलाफ बोलेंगे, लेकिन मैं चुनावी कैंपेन में उनके खिलाफ एक शब्द भी नहीं कहूंगा।


 

दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस बार दो जगह से चुनाव लड़ रहे हैं। राहुल अपनी परंपरागत सीट अमेठी के साथ केरल के वायनाड से भी चुनावी मैदान पर उतर रहे हैं। मंगलवार को वायनाड से चुनाव लड़ने के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा था, दक्षिण भारत में एक भावना है कि मौजूदा सरकार में उन पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। दक्षिण भारत को लगता है, नरेंद्र मोदी जी उनसे शत्रुता का भाव रखते हैं। राहुल ने दावा करते हुए कहा था, मैं आपके साथ खड़ा हूं। इसलिए मैंने केरल से चुनाव लड़ने का फैसला किया। 

इसके अलावा गुरुवार को ही देश के 22 शहरों में कांग्रेस अपने मेनिफेस्टो पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी। मुंबई में आनंद शर्मा, बेंगलुरु में कपिल सिब्बल, कोलकाता में पवन खेड़ा, वाराणसी में मोहन प्रकाश, चेन्नई में शर्मिष्ठा मुखर्जी, लखनऊ में राजीव शुक्ला, दिल्ली में अभिषेक मनु सिंघवी समेत कई नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपने घोषणा पत्र के बारे में बताएंगे।

 
वायनाड में राहुल गांधी को चुनौती देने के लिए एनडीए ने तुषार वेल्लापल्ली को उतारा है। वेल्लापल्ली बुधवार को ही अपना नामांकन भर चुके हैं। वे भारत धर्म जन सेना यानी बीडीजेएस के नेता हैं। बता दें कि, केरल की वायनाड लोकसभा सीट 2008 में अस्तित्व में आई थी। तब से अब तक इस सीट पर कांग्रेस का ही कब्जा रहा है। इस सीट के तहत 7 विधानसभा सीटें आती हैं। सातों विधानसभा सीटें मनंथावाड़ी, सुल्तानबथेरी, कल्पेट्टा और कोझीकोड जिलों में पड़ती हैं। 2009 से इस सीट पर कांग्रेस के एमआई शानवास सांसद हैं। अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के यहां से चुनाव लड़ने की वजह से यह संसदीय सीट हाई-प्रोफाइल सीटों में शुमार हो गई है। 

23 अप्रैल को 20 सीटों के लिए होगा मतदान
वायनाड जिला तीन राज्यों केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक की सीमा को छूता है। केरल में 20, तमिलनाडु में 39 और कर्नाटक में 28 लोकसभा सीटें हैं। आबादी की बात की जाए तो वायनाड सीट में हिंदू आबादी 49.7 प्रतिशत है। ईसाई 21.5 और मुस्लिम 28.5 प्रतिशत हैं। कुल वोटर 13 लाख 25 हजार 788 हैं। गौरतलब है कि केरल की सभी 20 सीटों के लिए 23 अप्रैल को मतदान होगा।

कमेंट करें
02oaU