comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पीएचई के उपयंत्री के घर लोकायुक्त का छापा - चार करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति का अनुमान

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 15th, 2019 13:52 IST

4.4k
1
0
पीएचई के उपयंत्री के घर लोकायुक्त का छापा - चार करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति का अनुमान

डिजिटल डेस्क,छिंदवाड़ा। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मैकेनिकल उपखंड सिवनी में पदस्थ उपयंत्री प्रदीप तिवारी के राजपाल चौक स्थित निवास में जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने छापामार कार्रवाई की। शुक्रवार तड़के सुबह साढ़े पांच बजे लोकायुक्त की टीम ने घर में पहुंचकर जांच शुरु की जहां नरसिंहपुर में एक मकान, दो लाख रुपए नगद, प्लाट, ज्वैलरी सहित तकरीबन चार करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति होना बताया है। दोपहर बाद तक जांच चल रही थी जहां लोकायुक्त पुलिस के अनुसार जांच के बाद यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। लोकायुक्त जबलपुर एसपी अनिल विश्वकर्मा ने बताया कि सुबह साढ़े पांच बजे करीब लोकायुक्त डीएसपी एचपी चौधरी, जेपी वर्मा सहित अन्य स्टॉफ के साथ पीएचई मैकेनिकल उपखंड सिवनी में पदस्थ उपयंत्री जो फिलहाल प्रभारी सहायक यंत्री के पद पर है इनके राजपाल चौक स्थित निवाास पर छापामार कार्रवाई की गई है। दोपहर बारह तक की गई जांच में अब तक दो लाख रुपए नगद, नरसिंहपुर में मकान, ज्वैलरी, प्लाट सहित अब तक हुई जांच में सामने आई है। आय से अधिक संपत्ति के मामले में जांच चल रही है जिसमें जांच के बाद ही सही स्थिति सामने आ पाएगी।
लोकायुक्त ने नींद से जगाया
उपयंत्री का परिवार अल सुबह गहरी नींद में था और साढ़े पांच बजे बजी कॉल बेल से ही परिवार की नींद खुली। दरवाजा खोलते ही जब लोकायुक्त जबलपुर की टीम दरवाजे पर नजर आई तो पूरा परिवार स्तब्ध रह गया। लोकायुक्त ने दरवाजा खुलते ही अपना परिचय देकर कार्रवाई शुरु कर दी। प्रदीप तिवारी सहित पूरे परिवार को ही ठीक से जागने का समय भी नही मिला।
दो लाख रुपए कैश मिला, ज्वेलरी की चल रही जांच
उपयंत्री के यहां छापे में दोपहर तक  की जांच के बाद 2 लाख रुपए नगद बरामद किए जा चुके थे। घर से मिले जेवरात की भी जांच जारी है हालांकी लोकायुक्त की जांच में उपयंत्री के यहां करोड़ों रुपए की बेनामी संपत्ति उजागर होने की संभावना जताई जा रही है। लोकायुक्त एसपी का कहना है कि जांच जारी है और जांच पूरी होने के बाद ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download