comScore

रेल किराया और मंहगा, दरें बढ़ाने को पिछले दरवाजे से हरी झंडी

July 27th, 2017 15:19 IST
रेल किराया और मंहगा, दरें बढ़ाने को पिछले दरवाजे से हरी झंडी

टीम डिजिटल, नई दिल्ली। ट्रेन में सफर करना लोगों को अब और भी मंहगा पड़ने वाला है। रेल मंत्रालय इस साल सितंबर-अक्टूबर तक रेल किराया बढ़ाने वाला है। इसके लिए प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी हरी झंडी दे दी है। रेल मंत्रालय सितंबर 2017 तक यात्री किराए में धीरे-धीरे वृद्धि के लिए सहमत है।

रेलवे बोर्ड के एक उच्च अधिकारी ने बात करते हुए बताया है, 'यह स्पष्ट है कि धीरे-धीरे किराया बढ़ाने का मतलब क्या है। इस पर हमें बात करने की जरूरत है। अभी तक कुछ निर्णय नहीं लिया गया है। फिर भी रेल किराया इस साल के अंत तक बढ़ाया जाना तय किया गया है।'

इससे पहले अप्रैल 2017 में पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में रेल किराए में समय-समय पर धीरे-धीरे बढ़ोत्तरी करने को लेकर सहमति बनी थी। इस बैठक में रेलवे को एक व्यवसायिक उपक्रम की तरह कार्य करने पर भी सहमति बनी थी, जिसमें रेलवे को प्रभावी और सुरक्षित यात्रा पर ध्यान केंद्रित करने के साथ यात्रियों के अनुभव को बेहतर बनाने पर जोर दिया गया था।

गौरतलब है कि रेल किराया बढ़ाना राजनीति पार्टियों के लिए हमेशा से ही मंहगा सौदा साबित हुआ है। यही कारण है कि यूपीए सरकार में जब ममता बनर्जी और लालू प्रसाद यादव रेल मंत्री थे, तब उन्होंने रेल यात्री किराया नहीं बढ़ाया था। हालांकि मुकुल राय जब रेल मंत्री बनें तो मामूली किराया बढ़ा था, लेकिन उसे भी वापस ले लिया गया। इसके बाद पवन बंसल ने रेल किराया बढ़ाया था, जो प्रति किमी दो पैसे से लेकर 10 पैसे तक टिकट श्रेणी के अनुसार लागू किया था।

ट्रेनों में मिलेगा पिज्जा और बर्गर 
यात्रियों की सुविधाओं में इजाफा करते हुए रेलवे ने ट्रेन में अब पिज्जा और बर्गर जैसी चीजें भी उपलब्ध करानी शुरू कर दी है। 15 जून से राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में अपनी सीट पर पसंदीदा फास्ट फूड का प्री-ऑर्डर ऑनलाइन किया जा रहा है। प्री ऑर्डर फोन कॉल या फिर मैसेज के जरिए भी किया जा सकता है।

Loading...
कमेंट करें
2zNA5
Loading...
loading...