comScore
Dainik Bhaskar Hindi

आगामी RPF भर्ती में महिलाओं को मिलेगा 50 फीसदी आरक्षण- पीयूष गोयल

BhaskarHindi.com | Last Modified - August 12th, 2018 22:29 IST

592
0
0
आगामी RPF भर्ती में महिलाओं को मिलेगा 50 फीसदी आरक्षण- पीयूष गोयल

News Highlights

  • रेलवे सुरक्षा बल (RPF) की आगामी 10 हजार जवानों की भर्ती में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण।
  • रेलवे में 13,00,00 वैकेंसी भी निकाली जाएगी।
  • इनमें कैंडिडेट्स का इंटरव्यू नहीं लिया जाएगा। केवल कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट के जरिए इनका चयन होगा।


डिजिटल डेस्क, पटना। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे सुरक्षा बल (RPF) की आगामी 10 हजार जवानों की भर्ती में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देने का ऐलान किया है। इसके अलावा आने वाले दिनों में रेलवे में 13,00,00 वैकेंसी भी निकाली जाएगी। इनमें कैंडिडेट्स का इंटरव्यू नहीं लिया जाएगा। केवल कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट के जरिए इनका चयन होगा। पीयूष गोयल बिहार के एक दिवसीय दौरे पर है। इस दौरान पटना में आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में उन्होंने ये घोषणा की।

 

 

इंडियन रेलवे में महिलाओं को रोजगार देने के उद्देश्य से उठाए गए इस कदम को लेकर पीयूष गोयल ने कहा, रिजर्वेशन से रेलवे कर्मचारियों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ेगा। हाल ही में रेलवे ने मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर दीन दयाल उपाध्याय किए जाने वाले कार्यक्रम में एक माल गाड़ी को भी हरी झंडी दिखाई थी, जिसमें पूरा स्टाफ महिला कर्मचारियों का था। भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे बड़े एम्पलॉयर में से एक है जिसमें कर्मचारियों की संख्या लगभग 1.308 मिलियन है। अब रेलवे अपनी छवि बदलने के लिए यात्रियों को विश्व स्तरीय अनुभव प्रदान करने की कोशिश कर रहा है। इसके अलावे तेजी से बढ़ रहे एविएशन सेक्टर को भी टक्कर देने की रेलवे की कोशिश है।

पटना के बापू सभागार में कार्यक्रम के दौरान रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आर ब्लॉक-दीघा रेल-लाइन की जमीन बिहार सरकार को हस्तांतरित किया। इस दौरान उन्होंने रेलवे की कई परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन भी किया। कार्यक्रम में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय सहित राज्‍य के कई मंत्री व जनप्रतिनिधि शामिल थे। इनमे केंद्रीय मंत्रियों में राजकुमार सिंह, अश्विनी चौबे, गिरिराज सिंह व रामकृपाल यादव मुख्‍य थे। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर