comScore
Dainik Bhaskar Hindi

रेलवे पुलिस ने शुरु की लंबी दूरी की गाड़ियों में किन्नरों के आतंक की छानबीन

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 13th, 2018 20:28 IST

1.4k
0
0
रेलवे पुलिस ने शुरु की लंबी दूरी की गाड़ियों में किन्नरों के आतंक की छानबीन

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर में आने जाने वाली लंबी दूरी की गाड़ियों में सफर करने वाले यात्री इन दिनों किन्नरों के आतंक से बेहद परेशान है। उत्तर प्रदेश से मुंबई आ रही गोदान एक्सप्रेस में बुधवार को कुछ किन्नरों ने पैसे न देने पर यात्रियों से मारपीट कर जबरन पैसे छीन लिए। कुछ यात्रियों की शिकायत के बाद रेलवे पुलिस ने आरोपी किन्नरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। 

नई मुंबई में रहने वाले पेशे से चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) प्रमोद गुप्ता भी इसी ट्रेन से सफर कर रहे थे। दैनिक भास्कर से बातचीत में गुप्ता ने बताया कि कसारा स्टेशन से ट्रेन जैसे ही आगे बढ़ी कुछ किन्नर एस9 डिब्बे में पहुंचे जिसमें वे बैठे हुए थे। किन्नरों ने यात्रियों से पैसे मांगने शुरू कर दिए। जो यात्री पैसे नहीं देता किन्नर उसके सामने कपड़े उतार देते, यही नहीं वे यात्रियों से धक्कामुक्की और बदसलूकी भी करते। डिब्बे में बैठी महिला यात्री किन्नरों की इन हरकतों से परेशान थे, लेकिन कोई कुछ नहीं कर पा रहा था।

यात्रियों ने आरपीएफ की हेल्पलाइन पर फोन कर मामले की जानकारी दी आरपीएफ का एक जवान कल्याण स्टेशन पर मदद के लिए आया तब तक किन्नर फरार हो चुके थे। आरपीएफ जवान ने कहा कि किन्नर फरार हो गए हैं और उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है तो मामले में कुछ नहीं किया जा सकता, लेकिन यात्रियों की परेशानी यहीं खत्म नहीं हुई। ट्रेन जैसे ही कल्याण से आगे बढ़ी किन्नरों का एक दूसरा समूह ट्रेन में सवार हो गया। उन लोगों ने भी यात्रियों से पैसे मांगने और न देने पर बदसलूकी शुरू कर दी। गुप्ता ने बताया कि किन्नरों ने पैसे न देने पर कपड़े उतारकर बदसलूकी शुरू कर दी। इसी बीच उन्होंने पूरी घटना का वीडियो बना लिया। किन्नर ने गुप्ता से भी पैसे मांगे तो उन्होंने परेशानी से बचने के लिए 10 रुपए दे दिए लेकिन वह इतने से संतुष्ट नहीं हुआ और उनकी जेब में रखे 1500 रुपए जबरन निकाल लिए।

जीआरपी बेरंग लौटाया
किन्नरों की बदसलूकी और लूटपाट से खिन्न गुप्ता मामले की शिकायत करने ठाणे जीआरपी पहुंचे तो वहां मौजूद पुलिस वाले का रवैया हैरान करने वाला था। उसने ज्यादा भीड़भाड़ का हवाला देते हुए बिना शिकायत दर्ज किए गुप्ता को वापस लौटा दिया। इसके बाद किन्नरों की बदसलूकी का वीडियो मीडिया तक पहुंचा और रेलवे पुलिस को पत्रकारों ने फोन करना शुरू किया तो अधिकारियों ने गलती मानते हुए शिकायत दर्ज की।

गुप्ता ने बताया कि गुरूवार सुबह उन्होंने जाकर ठाणे जीआरपी में एफआईआर दर्ज कराई है। गुप्ता के मुताबिक खासकर उत्तर भारत की ओर आने जाने वाली ट्रेनों को किन्नर निशाना बनाते हैं और भोले भाले यात्रियों से जबरन वसूली करते हैं। बता दें कि इससे पहले भी किन्नरों द्वारा यात्रियों से बदसलूकी और जबरन वसूली की कई शिकायतें पुलिस को की जा चुकी है, लेकिन कई कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। 
 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर