comScore
Dainik Bhaskar Hindi

राजस्थान में गिरा वोटिंग परसेंट, 74 प्रतिशत मतदाताओं ने डाले वोट

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 08th, 2018 00:24 IST

8.8k
7
0
राजस्थान में गिरा वोटिंग परसेंट, 74 प्रतिशत मतदाताओं ने डाले वोट

News Highlights

  • राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए मतदान जारी
  • 2274 प्रत्याशियों के लिए 4,75,54,217 मतदाता करे रहे हैं मतदान
  • भाजपा-कांग्रेस के बीच बड़ा मुकाबला


डिजिटल डेस्क, जयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव में इस बार वोटिंग परसेंट में गिरावट दर्ज की गई है। राज्य में इस बार 74.09 प्रतिशत वोटिंग हुई है जो पिछली बार से करीब डेढ़ फीसदी कम है। 2013 विधानसभा चुनाव में राज्य में 75.67 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था।

बता दें कि राज्य की 200 विधानसभा सीटों में से 199 सीटों पर शुक्रवार को वोट डाले गए। इन सीटों पर 2274 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। चुनाव आयोग ने अलवर जिले की रामगढ़ सीट पर बीएसपी उम्मीदवार लक्ष्मण सिंह के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिया है। इस सीट पर वोटिंग, नतीजे आने के बाद कराई जाएगी।

गौरतलब है कि पीएम मोदी, राहुल गांधी, योगी आदित्यनाथ,अमित शाह, नवजोत सिंह सिद्धू, अशोक गहलोत, सचिन पायलट और सीएम वसुंधरा राजे समेत कई दिग्गजों ने राजस्थान के रण में अपनी-अपनी पार्टियों के लिए जमकर प्रचार-प्रसार किया। भाजपा-कांग्रेस की ओर से कई रैलियां, रोड शो और जनसभाएं की गई। इन दिग्गजों की मेहनत कितना असर दिखाती है, यह 11 दिसंबर को चुनाव नतीजे आने के बाद ही साफ हो पाएगी।

ELECTION UPDATE

  • वोटिंग खत्म, 74.09 फीसदी वोटर्स ने किया मतदान
  • राजस्थान में शाम 5 बजे तक 72.7 प्रतिशत मतदान
  • राजस्थान में दोपहर तीन बजे तक 60 फीसदी मतदान 
  • मतदान के दौरान सीकर में दो गुटों में झड़प। नगर परिषद के पास ये झगड़ा हुआ है, दो लोग घायल
  • राजस्थान में दोपहर 1 बजे 41.53 फीसदी मतदान 
  • मतदान के दौरान राजस्थान के फतेहपुर शेखावटी में दो गुटों में झड़प हो गई है। चमड़िया कॉलेज के पास विवाद हुआ। दो पक्षों में हुए झगड़े के दौरान एक व्यक्ति को चोट आई है, पुलिस ने लोगों को वहां से खदेड़ा। भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।
  • राजस्थान में सुबह 11 बजे तक 21.89% मतदान 
  • ईवीएम खराबी के कारण वोटरों में रोष, जालौर में किया हंगामा
  • राजस्थान में 9 बजे तक 6.11% वोट पड़े। यहां वोटिंग सुबह 8 बजे शुरू हुई थी
  • राजस्थान के बीकानेर में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल को करीब एक घंटे तक पोलिंग बूथ की लाइन में खड़े रहना पड़ा। बीकानेर पूर्व में बूथ नं. 172 पर ईवीएम खराब होने के कारण मंत्री को इंतजार करना पड़ा।
  • राजस्थान के चित्तौड़गढ़, बेंगू, सवाई माधोपुर में ईवीएम खराब। कई जगह काफी समय तक मतदाता लाइनों में खड़े रहे।
  • पुष्कर, हैदरशाह में भी ईवीएम खराब होने की खबरें आईं। पुष्कर में अभी तक मतदान शुरू ही नहीं हो पाया है।
  • कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने मतदान के बाद कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समझ चुके थे कि राजस्थान में हार निश्चित है। बस वह हार का अंतर कम करने के लिए अंतिम तक प्रचार करते रहे, बीजेपी अब सम्मानजनक हार की लड़ाई लड़ रही है। 11 दिसंबर को कांग्रेस की सरकार बनना तय है।
  • कांग्रेस नेता सचिन पायलट और अशोक गहलोत ने भी डाला वोट
  • केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर ने पोलिंग बूथ 252 से डाला वोट 
  • शरद यादव के बयान पर वसुंधरा ने कहा कि वह इस बयान से स्तब्ध है, अगर इतना बड़ा नेता अपनी वाणी पर संयम ना रख पाए तो काफी बुरा लगता है। शरद यादव का बयान महिलाओं का अपमान है। 
  • मतदान के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा, हमने पांच साल में विकास करने का काम किया है, हमें पूरी उम्मीद है कि हमें बहुमत मिलेगा।
  • सीएम वसुंधरा राजे ने झालावाड़ से किया मतदान 
  • राजस्थान में 199 सीटों पर मतदान जारी

199 सीटों पर 2274 प्रत्याशी
राजस्थान के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि राज्य की 199 सीटों पर कुल 2274 प्रत्याशी मैदान में हैं। इस बार 200 की बजाए 199 सीटों पर चुनाव कराया जा रहा है। अलवर सीट पर चुनाव स्थगित किया गया है। मतदान के लिए कुल 51,687 केन्द्र बनाए गए है। राजस्थान में कुल 4,75,54,217  रजिस्टर्ड वोटर्स हैं। इनमें 2,47,22,365 पुरुष वोटर्स हैं और 2,27,15,396 महिला वोटर्स हैं। जबकि पोस्टल वोट्स की कुल संख्या 1,16,456 है।

स्थानीय मुद्दो से अधिक राष्ट्रीय मुद्दो पर जोर
राजस्थान चुनाव में भाजपा-कांग्रेस की ओर से जमकर प्रचार किया गया। चुनाव प्रचार में बीजेपी ने राज्य में 222 बड़ी जनसभाएं कीं जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 12 सभाएं शामिल हैं। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य भर में कुल नौ चुनावी सभाओं को संबोधित किया। प्रचार अभियान के दौरान दोनों पार्टियों के नेताओं ने एक-दूसरे पर निजी हमले किए। मौजूदा चुनाव में किसानों की समस्या, भ्रष्टाचार और युवाओं के लिए नौकरी जैसे मुद्दों के बजाए राष्ट्रीय मुद्दों पर अधिक जोर रहा। कांग्रेस नेताओं ने अपनी सभाओं में राफेल, करतारपुर कॉरिडोर, नीरव मोदी के सहारे बीजेपी पर निशाना साधा। वहीं सत्तारूढ़ बीजेपी ने सर्जिकल स्ट्राइक, यूपीए सरकार में हुए घोटाले, भारत माता की जय और अगुस्टा वेस्टलैंड घोटाले जैसे मुद्दों के साथ कांग्रेस पर पलटवार किया। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें