comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पूजा को मिले एक साथ 10 मेडल, दीक्षांत बना रादुविवि के लिए गोल्डन-डे

BhaskarHindi.com | Last Modified - March 15th, 2019 07:58 IST

1.2k
3
5
पूजा को मिले एक साथ 10 मेडल, दीक्षांत बना रादुविवि के लिए गोल्डन-डे

डिजिटल डेस्क,जबलपुर। रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के 31वें दीक्षांत समारोह में राज्यपाल एवं कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल ने 1 डीलिट, 118 पीएचडी एवं 38 स्वर्ण पदक विजेताओं को क्रमश: उपाधियां तथा गोल्ड मेडल्स वितरित किए। मंडला की पूजा ज्योतिषी, जिन्हें 1 या 2 नहीं पूरे 10 गोल्ड मिले। जानकारों के अनुसार रादुविवि के लिए भी यह पहला मौका जब किसी को एक बार में ही इतने मैडल मिले हैं।
आगे और मेहनत करती है, प्रोफेसर बनना है-
पूजा ज्योतिषी से विशेष बातचीत में कहा कि 10 गोल्ड मेडल मिलने की खुशी बयां नहीं की जा सकती। मैं हमेशा से चाहती थी कि अपने माता-पिता, परिवार, कॉलेज और जिले का नाम रोशन करुं। मैं मंडला की रहने वाली हूं और शा. कला वाणिज्य महाविद्यालय कटंगी, बालाघाट से एमए अर्थशास्त्र की पढ़ाई की है। इन दिनों छत्तीसगढ़ में पढ़ा भी रहीं हूं। पढ़ाई को लेकर हमेशा से ही अवेयर थी। मै आगे और मेहनत करना चाहती हूं। मेरा सपना प्रोफेसर बनने का है। रिसर्च में इंट्रस्ट के चलते मेरे रिचर्स पेपर भी पब्लिश हुए हैं। यही कहूंगी कि कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो कोई मुश्किल आड़े नहीं आ सकती। वे सुशीला- अवधेष ज्योतिषी  की सुपुत्री हैं।
स्वर्णपदकों में छात्राओं का दबदबा-
समारोह में 38 विद्यार्थियों को स्वर्ण पदकों का वितरण किया गया, जिनमें 31 छात्राएं रहीं। इसमें छात्रा पूजा ज्योतिषी को सर्वाधिक एमए अर्थशास्त्र विषय में 10 स्वर्ण पदक प्रदान किए गए। डॉ. संजय तिवारी को डी. लिट की उपाधि प्रदान की गई। इसके साथ ही कलासंकाय की 24, सामाजिक विज्ञान की 31, विज्ञान की 7, जीव विज्ञान की 14, विधि संकाय की1, वाणिज्य संकाय की 16, शिक्षा संकाय की 17, प्रबंधन की 3 एवं गणितीय विज्ञान संकाय की 5 पीएच.डी उपाधियां प्रदान की गईं।
इनका रहा सहयोग-
31वें दीक्षांत समारोह के सफल आयोजन में प्रो. सीएसएस ठाकुर, प्रो. पीके सिंघल, प्रो. एसएन बागची, प्रो. अंजना शर्मा, प्रो. कमलनयन शुक्ला, प्रो. वायके बंसल, प्रो. रामशंकर, प्रो. जेएम केलर, परीक्षा नियंत्रक प्रो. राकेश बाजपेयी, वित्त नियंत्रक सुरेश कतिया, छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. विवेक मिश्रा, प्रो. सुभाष शर्मा, प्रो. एसएन मिश्रा, प्रो. दिव्या बागची, प्रो. दिव्या चंसौरिया, डॉ. राजेश्वरी राणा, डॉ. एके गिल, डॉ. दीपेश मिश्रा, मेघराज निनामा, डॉ. विशाल बन्ने, डॉ. एके गुप्ता, डॉ. आर.के. गुप्ता, डॉ. जया सिंह, डॉ. रजनी शर्मा, इंजीनियर विनोद जारोलिया, एमएल द्विवेदी, डॉ. हरेकृष्ण पाण्डेय, राजमणि नासेरी सहित विवि के सभी प्राध्यापकगण, अधिकारीगण, अतिथि विद्वानों एवं कर्मचारियों का सहयोग रहा।
इनकी रही उपस्थिति-
31वें दीक्षांत समारोह में प्रो. एस.पी. गौतम, जेएनकेविवि के कुलपति प्रो. पीके बिसेन, वेटरनरी विवि के कुलपति प्रो. पीडी जुआल, प्रो. प्रज्ञा मिश्रा, प्रो. एसएस पाण्डेय, प्रो. प्रियव्रत शुक्ला, प्रो. अलका नायक, प्रो. एके पाण्डेय, प्रो. रहस बिहारी द्विवेदी, प्रो. राधिका प्रसाद मिश्रा, मप्र उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश श्री नकवी एवं रजिस्ट्रार श्री पवार, मानवाधिकार संरक्षण परिषद् के अध्यक्ष प्रो. दिनेशदत्त चतुर्वेदी सहित अभिभावकगण एवं विभिन्न महाविद्यालयों प्राचार्यगण एवं प्राध्यापकगण उपस्थित रहे।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें
Survey

app-download