comScore

कमला मिल अग्निकांड : पब मालिकों का रिश्तेदार जमानत पर छूटा, मुख्य आरोपी की तलाश

January 01st, 2018 15:03 IST
कमला मिल अग्निकांड : पब मालिकों का रिश्तेदार जमानत पर छूटा, मुख्य आरोपी की तलाश

डिजिटल डेस्क, मुंबई। वन एबव पब के मालिकों हितेश संघवी और जिगर संघवी के दो रिश्तेदारों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था, लेकिन बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। दोनों पर संघवी भाईयों को शरण देने का आरोप है। दोनों के खिलाफ भायखला पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई थी। मुंबई पुलिस ने हितेश और जिगर के चाचा महेंद्र कुमार संघवी और चचेरे भाई आदित्य संघवी के खिलाफ आईपीसी की धारा 216 के तहत एफआईआर दर्ज की थी। मुंबई पुलिस के प्रवक्ता डीसीपी दीपक देवराज ने बताया कि दोनों को गिरफ्तार किया गया था। बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।

पब के मालिकों के रिश्तेदार की गिरफ्तारी

रिहाई के बाद आदित्य संघवी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वे वन एबव पब के मालिकों के रिश्तेदार हैं, लेकिन पब या आग की घटना से उनका कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि क्यों गिरफ्तार किया गया यह हमें नहीं पता और न ही हम जानते हैं कि वन एबव के मालिक कहां हैं। वहीं मामले के मुख्य आरोपी घटना के तीन दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। मामले की जांच कर रही एनएम जोशी मार्ग पुलिस ने कुल चार एफआईआर दर्ज की है। छानबीन में जुटी पुलिस अब तक 27 चश्मदीदों के बयान दर्ज कर चुकी है। पुलिस घटना के वक्त पब में मौजूद दूसरे लोगों से भी संपर्क करने की कोशिश कर रही है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने गैर इरादतन हत्या समेत विभिन्न आरोपों में एफआईआर दर्ज की है। 

सरकार हुई सख्त

आपको बता दें लोअर परेल इलाके के कमला मिल कंपाउंड के रेस्तरां स्थित पब में आग लगने से हुई 14 लोगों की मौत के मामले में सरकार ने एक्शन लिया था। हादसे के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस हालात का जायजा लेने के लिए पहुंचे थे। सीएम फडनवीस ने इस दौरान कहा कि बीएमसी कमिश्नर को हादसे के कारणों की जांच करने के आदेश दिए गए। सीएम ने बीएमसी पर सख्ती के संकेत दिए थे। साथ ही प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए BMC के 5 अफसरों को सस्पेंड कर दिया।

कमेंट करें
3CYqK