comScore

ओरछा: बेतवा के टापू पर फंसे 8 लोगों को रेस्क्यू कर बचाया, नदी के जलस्तर में तेजी से वृद्धि

ओरछा: बेतवा के टापू पर फंसे 8 लोगों को रेस्क्यू कर बचाया, नदी के जलस्तर में तेजी से वृद्धि

डिजिटल डेस्क, ओरछा। अंचल में पिछले 24 घंटे से हो रही जोरदार बारिश के चलते बेतवा और जामनी नदी में जल स्तर तेजी से बढ़ने से पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के ग्राम सुजानपुरा मोहनपुरा के जंगल में आठ व्यक्ति जंगल से लकड़ी लेने के लिए गए हुए थे, जो एक टापू पर पानी से घिर गए। सोमवार की शाम फंसे इन लोगों को पुलिस प्रशासन व होमगार्ड टीम ने रेस्क्यू टीम की मदद से मंगलवार सुबह सुरक्षित बाहर निकाला। बताया जाता है कि सोमवार से ही जामनी नदी के जलस्तर बढ़ने के कारण लकड़ी काटने गए ग्रामीणजन जिस स्थान पर लकड़ी एकत्रित कर रहे थे, उस स्थान पर कुछ ही देर में जलस्तर तेजी से बढ़ गया और क्षेत्र ने टापू का रूप ले लिया, जिसके कारण कुछ लोग तो उस स्थान से निकलने में  कामयाब हो गए, लेकिन पानी की स्तर बढ़ने के कारण आठ लोग उसी स्थान पर फंस कर रह गए।

टीकमगढ़ से बुलायी टीम

इसकी जानकारी जब प्रशासन को मिली तो प्रशासन तुरंत हरकत में आया और कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह एवं एसपी मुकेश कुमार श्रीवास्तव के निर्देशन में मौके की जानकारी लेकर टीकमगढ़ जिले की रेस्क्यू टीम बुलाई गई और जलस्तर बढऩे की भी बराबर रिपोर्ट ली गई। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक भी मौके पर मौजूद रहे।

मोबाइल पर दी सूचना

कलेक्टर अक्षय सिंह ने क्षेत्र के लोगों से नदियों से दूर रहने की अपील की है। सोमवार देर रात जब प्रशासन को सूचना मिली तो सबसे पहले कोशिश की गई कि लोगों से संपर्क स्थापित हो। संयोग टापू पर फंसे लोगों में से एक व्यक्ति के पास मोबाइल था, जिसके बाद उनसे बात हुई और उन्हें हिम्मत दिलाई गई कि परेशान न हों प्रशासन को आपके फंसे होने की खबर मिली। रात करीब 12 बजे तक रेस्क्यू टीम व प्रशासन ने जानकारी एकत्र की। उसके बाद सुबह चार बजे रेस्क्यू शुरू किया गया।

इनकी बचायी जान

एक्सपर्ट बोट और रस्सियों के सहारे लोगों को निकालना शुरू हुआ और भारी मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीमों ने मंगलवार सुबह 5 बजे क्षेत्र के सुजानपुरा निवासी भगवान दास यादव उम्र 65 वर्ष, पार सिंह उम्र 25 वर्ष के साथ नाबालिग 8 वर्षीय नीरज सौर, 12 वर्षीय देवेन्दी सौर 11 वर्षीय नीतेश सौर, 13 वर्षीय अजीत सौर, 14 वर्षीय खुशीराम सौर और 13 वर्षीय रामकुमार सौर सहित आठ लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। बेतवा और जामनी नदी के उफान पर आने के बाद प्रशासन ने दोनों पुलों पर बैरियर लगाकर ओरछा-पृथ्वीपुर मार्ग को बंद कर दिया है और सुरक्षा की दृष्टि से तैराकों और पुलिस बल को तैनात किया गया है।

रस्सियों से बांधी नाव

एसपी मुकेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन के बारे में बताया गया कि यह हम लोगों के लिए भी बड़ी चुनौतीपूर्ण कार्य था। बरसात के मौसम में ऐसी जगह फंसे हुए थे, जहां पहुंच पाना काफी मुश्किल था, क्योंकि रास्ते में दो से तीन नाले पड़ रहे थे। फिर दूसरी ओर से जाना संभव हो पाया, जहां वन विभाग के जंतु वॉच टॉवर से होकर हम लोग मौके पर पहुंचे। वहां नदी का पानी बहुत वेग पर था। कई बार नाव पानी के अधिक वेग के कारण आगे नहीं जा पा रही थी, फिर रस्सियों से बांध कर नाव को दूसरी ओर भेजा गया और सभी को एक साथ नाव में बैठाकर सफलतापूर्वक पानी से बाहर निकाला गया। रात में कई बार फंसे हुए ग्रामीणजनों से फोन के माध्यम से संपर्क होता रहा और उनको फोन पर ही समझाइश देते रहे और टीकमगढ़ से आए गोताखोरों एवं नाव की सहायता से लोगों को सकुशल बाहर निकाला गया।

कमेंट करें
M6UVD