comScore

तहसीलदार की कार की टक्कर से रिक्शा चालक की मौत , करणी सेना ने किया प्रदर्शन 

तहसीलदार की कार की टक्कर से रिक्शा चालक की मौत , करणी सेना ने किया प्रदर्शन 

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। लार्डगंज थाना क्षेत्र स्थित गोलाबाजार के पास पिछली शाम तहसीलदार की कार की टक्कर से हुई रिक्शा चालक की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले में जहां पुलिस ने मर्ग कायम कर रिक्शा चालक की मौत के कारणों का पता लगाने जांच शुरू कर दी है। वहीं करणी सेना ने थाने में प्रदर्शन कर कार चालक पर गंभीर आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है। पुलिस के अनुसार मंगलवार की शाम 7 बजे के करीब गोलाबाजार क्षेत्र में सड़क दुर्घटना होने की सूचना पाकर पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची थी। वहां पर एक रिक्शा चालक बेहोशी की हालत में मिला था। रिक्शा चालक को तत्काल इलाज के लिए विक्टोरिया अस्पताल रवाना किया गया। वहां उसकी हालत गंभीर होने पर मेडिकल रेफर किया गया था। इलाज के दौरान देर रात मेडिकल में उसकी मौत हो गई थी। मृतक की शिनाख्त सिंधी कैंप निवासी लेखचंद फूके, उम्र 50 वर्ष के रूप में की गई। अस्पताल की सूचना पर पुलिस मर्ग कायम कर जांच में जुटी है।

उधर इनका कहना है
इस मामले में तहसीलदार भूमिका पांडे का कहना है कि कार मेरे पिता के नाम पर है। कार को चालक चला रहा था, उसमें मेरी माँ व बहन सवार थीं। गोलबाजार के पास अचानक एक रिक्शा चालक कार से आकर टकराकर जमीन पर गिर गया था। इस घटना के बाद राहगीरों ने मेरे कार चालक से जमकर मारपीट की। जानकारी लगने पर मैं स्वयं मौके पर पहुंची, तो मुझे पता चला कि कार चालक की गलती नहीं थी, फिर भी लोग आक्रोशित थे। समीप ही रिक्शा चालक जमीन पर पड़ा था। मैं उसे तत्काल इलाज के लिए विक्टोरिया लेकर गई, वहां से मेडिकल ले गई और काफी प्रयासों के बाद उसकी जान नहीं बच सकी। 

शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में नेचुरल डैथ  
रिक्शा चालक की शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में नेचुरल डैथ का खुलासा हुआ है। डॉक्टर विनोद श्रीवास्तव के हवाले से दी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि उसके फेफड़े में संक्रमण था और उसकी मौत हार्ट फैल होने से हुई है। शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं पाए गए हैं।  -अमित सिंह, एसपी जबलपुर
 

कमेंट करें
2lSrN