comScore

दुष्कर्म के बाद किशोरी की गला घोंटकर निर्मम हत्या, 5 आरोपी हिरासत में

दुष्कर्म के बाद किशोरी की गला घोंटकर निर्मम हत्या, 5 आरोपी हिरासत में

डिजिटल डेस्क, सतना। अमदरा थाना क्षेत्र में एक गांव में 13 वर्षीय किशोरी की गला घोंट कर हत्या करने का मामला प्रकाश में आया है। बताया जाता है कि किशोरी घर पर थी, इसी दौरान उसके साथ दुष्कर्म कर गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने संदेह के आधार पर 5 आरोपियों को हिरासत में लिया है।

जानकारी के अनुसार अमदरा थाना क्षेत्र के समीपी गांव में दुष्कर्म के बाद किशोरी की हत्या से सकते में आई पुलिस आरोपी तक पहुंचने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही है। फॉरेंसिक टीम ने घटनास्थल से लेकर आसपास के इलाके का 2 बार मुआयना किया, तो डॉग को चप्पे-चप्पे पर घुमाया गया। जबकि एएसपी गौतम सोलंकी ने एसडीओपी हेमंत शर्मा और टीआई शंखधर द्विवेदी के साथ घटनाक्रम की समीक्षा करते हुए 5 संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

सनसनीखेज वारदात को देखते हुए 10 हजार के इनाम की घोषणा की गई है। गौरतलब है कि सोमवार शाम को 13 वर्षीय किशोरी से दुष्कर्म के बाद हत्या की सूचना मिलने पर थाना प्रभारी गांव पहुंचे थे। साथ ही फारेंसिक अधिकारी डा. महेन्द्र सिंह को फिंगरप्रिंट विशेषज्ञ अजीत सिंह के साथ बुला लिया था। इन अधिकारियों ने मंगलवार सुबह भी घटनास्थल से भौतिक साक्ष्य जुटाए थे।

रात भर बहन की लाश के साथ सोती रही बालिका-
पुलिस ने जब परिजन से पूछताछ की तो पता चला कि 13 वर्षीय किशोरी के परिवार में माता-पिता के अलावा 2 छोटी बहनें और 1 भाई है। तीन दिन पूर्व उसकी मां जब मायके जा रही थी, तो दोनों छोटे बच्चों को साथ ले गई। घर पर मृतका के साथ 11 वर्षीय बहन और पिता रुक गया था। रविवार सुबह पिता भी मजदूरी करने कैमोर चला गया और मौसम खराब होने के कारण रात में नहीं आया। इधर गांव में 11 वर्षीय बालिका कुछ दूर पर रहने वाले दादा-दादी के घर खेलने चली गई थी। इसी बीच अज्ञात व्यक्ति ने घर में घुसकर किशोरी को हवस का शिकार बना लिया और पहचान उजागर होने के डर से दुपट्टे से गला घोटकर उसकी हत्या कर दिया। अंधेरा हो जाने पर जब छोटी बहन वापस आई तो किशोरी को चटाई पर दीवार के सहारे बैठे देखकर खाना बनाने के लिए कहने लगी, लेकिन काफी देर तक कोई जवाब नहीं मिला तो रसोई से खुद ही खाना निकालकर खाने के बाद चटाई पर ही लेट गई। बहन की मौत से अनजान बालिका ने उसके गले पर बंधा दुपट्टा खोलने की कोशिश भी की, पर नाकाम रही थी। सोमवार सुबह देर से नींद खुलने पर मुंह-हाथ धोने के बाद दादा-दादी के पास चली गई। उसे तब भी बड़ी बहन के साथ हुए कुकृत्य का आभास नहीं था।

खबर देने में की देरी-
सुबह लगभग 11 बजे तक किशोरी बाहर नहीं आई तो उसकी दादी आवाज लगाते हुए घर गई, जहां चटाई पर लेटे देखकर हिलाने-डुलाने लगी, पर जल्द ही पता चला गया कि उसकी मौत हो गई है। तब महिला ने परिजन को अवगत कराया तो उसके माता-पिता को भी खबर दी, लेकिन किसी ने पुलिस तक सूचना देने की जहमत नहीं उठाई। देर शाम दूसरे गांव से आए किसी रिश्तेदार ने डायल 100 पर फोन किया, तब मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने वहां के हालातों से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया, जिसके बाद थाना प्रभारी घटनास्थल पर पहुंचे थे।

कमेंट करें
xGfh8