comScore
Dainik Bhaskar Hindi

उत्तर भारतीयों के पलायन पर बोले संजय निरुपम, कहा- मोदी न भूलें उन्हें वाराणसी भी जाना है

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 08th, 2018 14:44 IST

6k
3
0
उत्तर भारतीयों के पलायन पर बोले संजय निरुपम, कहा- मोदी न भूलें उन्हें वाराणसी भी जाना है

News Highlights

  • गुजरात से यूपी बिहार के पलायन पर संजय निरुपम ने पीएम मोदी पर किया हमला
  • संजय ने कहा, अगर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य में यूपी, एमपी और बिहार के लोगों को मार-मार के भगाया जाएगा तो उन्हें भी एक दिन वाराणसी जाना है, ये बात उन्हें याद रखना होगी।
  • पिछले दिनों गुजरात में 14 साल की बच्ची के साथ रेप के मामले में बिहार के एक शख्स को गिरफ्तार करने के बाद गुजरात का माहौल हिंसक होता जा रहा है।


डिजिटल डेस्क, मुंबई। गुजरात से पलायन कर रहे यूपी, बिहार और एमपी के लोगों के समर्थन में कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। संजय ने कहा, अगर पीएम के गृह राज्य में यूपी, एमपी और बिहार के लोगों को मार-मार के भगाया जाएगा तो उन्हें भी एक दिन वाराणसी जाना है, ये बात उन्हें याद रखनी होगी। संजय ने तंज कसते हुए कहा, गुजरात में एक बच्ची के साथ बिहार का रहने वाला कोई शख्स रेप करता है तो उसकी गिरफ्तारी के बाद माहौल हिंसक क्यों होता जा रहा है। क्यों बिहार, यूपी और एमपी के लोगों को परेशान किया जा रहा है। स्थिति ऐसी हो चुकी है कि लोग मॉब लिंचिंग के डर से भाग रहे हैं। क्या गुजरात में उन्हें सुरक्षा नहीं दी जा सकती है। 

संजय ने कहा, जिन लोगों पर आज गुजरात में हमला किया जा रहा है। उन्हीं लोगों ने पीएम मोदी का गले गलाया था। पीएम मोदी आज वाराणसी से सांसद है यहां के लोगों ने उन्हें पीएम के रूप में सम्मान और प्यार दिया था, लेकिन पीएम के गृह राज्य उन्हीं लोगों पर अत्याचार किया जा रहा है। 

बता दें, पिछले दिनों गुजरात में 14 साल की बच्ची के साथ रेप के मामले में बिहार के एक शख्स को गिरफ्तार करने के बाद गुजरात का माहौल हिंसक होता जा रहा है। गुजरात में रह रहे बिहार, यूपी और एमपी के लोगों को लगातार परेशान किया जा रहा है। मॉब लिंचिंग के डर से ये लोग अब भागने को मजबूर हो गए हैं। कुछ लोगों के धमकाने के बाद अब तक करीब 1500 से ज्यादा लोग पलायन कर चुके हैं। रेप की घटना के बाद गुजरात में फैली हिंसा से अब तक 1500 लोग पलायन कर चुके है। लोगों के मन डर बना हुआ है। सब गुजरात छोड़कर भाग रहे है।

6 जिले प्रभावित
इस पूरे मामले पर डीजीपी शिवानंद झा ने बताया कि हिंसा से गुजरात 6 जिले प्रभावित हैं। मेहसाना और साबरकांठा में ज्यादा प्रभाव दिखाई दे रहा है। यहां 42 केस दर्ज किए गए हैं और 342 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पीड़ित ठाकोर समुदाय से संबंधित है इसलिए पिछले चार-पांच दिनों से ठाकोर समुदाय द्वारा अहमदाबाद, मेहसाना, गांधीनगर, पाटन, साबरकांठा, बनासकांठा और अरावली जिले में यूपी बिहार और दूसरे राज्यों से गुजरात आकर काम करने वाले मजदूरों पर हमले किए जा रहे हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर