comScore
Election 2019

दुल्हन लेने गई बारात लाश लेकर लौटी, शादी की खुशियां मातम में बदली

दुल्हन लेने गई बारात लाश लेकर लौटी, शादी की खुशियां मातम में बदली

डिजिटल डेस्क, सतना। जनवासे में विवाह की रस्में संपन्न हो रही थी। लड़की वालों ने विदाई की पूरी तैयारियां कर ली। लड़के वाले भी दुल्हन को ले जाने उत्सुक थे, इसी बीच जनवासा व उसके बाहर चीख पुकार मच गई। दरअसल विवाह रस्मों के दूल्हे के भाई को अज्ञात वाहन रौंद कर चला गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बाराती दुल्हन की जगह अर्थी लेकर वापस लौटे। इस हादसे में शादी की खुशियां मातम में बदल गई।

उल्लेखनीय है कि दो छोटे भाइयों की बारात लेकर नागौद के हरदुआ कला से रीवा के मनगवां थाना अंतर्गत मढ़ी कला गए दिव्यांग कमलेश पुत्र रामप्रसाद साहू को शादी की रस्मों के बीच सोमवार रात जनवास के सामने अज्ञात वाहन ने रौंद दिया। इस हादसे में युवक की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के समय वह सड़क पार कर रहा था। इस दर्दनाक हादसे की खबर परिजन ने दूल्हा बने दोनों भाइयों लल्लू और छोटकू से तब तक छिपाए रखी, जब तक कि सभी रस्में पूरी नहीं हो गईं।

कार्यक्रम समाप्त होने के बाद किसी ने भाईयों को इस बात से अवगत कराया तो उनके होश उड़ गए। सभी की सहमति से विदाई स्थगित करते हुए अस्पताल में युवक के शव का पोस्टमार्टम कराया गया और फिर दुल्हनों की जगह कमलेश की अर्थी लेकर बारात रीवा से नागौद लौट आई। बताया गया है कि दोनों भाइयों की शादी मढ़ी कला निवासी शिवपति साहू की बेटियों से हो रही थी।  

पैर से था दिव्यांग-
मृतक कमलेश पैर से दिव्यांग था। बताया जा रहा है कि मढ़ी कला में प्राथमिक स्कूल में जनवास था। यहां रात लगभग साढ़े 11 बजे सड़क पार करते समय वह अज्ञात वाहन की चपेट में आ गया। दिव्यांग होने की वजह से अभी तक अविवाहित युवक अपने भाइयों की शादी की लेकर बेहद उत्साहित था।

बाइक और 50 हजार की मांग नहीं पूरी हुई तो तोड़ दिया रिश्ता-
वहीं कोटर थाना क्षेत्र के लखनवाह गांव की 20 वर्षीय युवती का रिश्ता रीवा जिले के सिरमौर थाना अंतर्गत राजगढ़ निवासी लल्लू यादव के बेटे से तय हुआ था। बीते 11 अप्रैल को तिलक चढ़ गया और शादी की तारीख 29 मई तय की गई। इसी बीच 13 मई को वर पक्ष के लोगों ने कुछ बात करने के लिए लड़की के पिता व रिश्तेदारों को घर बुलाया, जहां दहेज में एक मोटरसाइकिल के साथ 50 हजार रूपए की मांग रख दी। जिससे वधु पक्ष सकते में आ गया।

मान-मनौवल की कोशिशें शुरू हो गईं तो लड़की के पिता ने आर्थिक स्थिति का हवाला दिया, पर लड़के और उसके घरवालों ने मांग पूरी नहीं होने पर रिश्ता तोड़ दिया। इस घटनाक्रम से लड़की और उसके परिजन सकते में आ गए, जिन्होंने तिलक में 50 हजार की रकम देने के अलावा लगभग 1 लाख रूपए तैयारियों पर खर्च कर दिए थे। तब पीडि़त व्यक्ति ने सिरमौर थाना प्रभारी को लिखित आवेदन देकर दहेज के लिए रिश्ता तोडऩे वालों पर कार्रवाई की मांग की, जिस पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Loading...
कमेंट करें
FpDEO
Loading...