comScore

टायर गोदाम में लगी भीषण आग, लाखों का माल जलकर हुआ खाक

टायर गोदाम में लगी भीषण आग, लाखों का माल जलकर हुआ खाक

डिजिटल डेस्क, सतना। स्टेशन रोड पर उस समय हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई, जब लोगों ने एक टायर शो-रूम की दूसरी और तीसरी मंजिल से धुआं निकलते देखा। देखते ही देखते आग की लपटें निकलने लगी। दरअसल शो-रूम की दूसरी और तीसरी मंजिल में बना टायर का गोदाम बना हुआ है, जिसमें अचानक आग भड़क गई। सूचना पर मौके पर पहुंची दमकल विभाग की तीन गाड़ी पानी ने आग पर काबू पाया है। बताया जाता है कि यदि समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता, तो आग आस-पास की दुकानों तक फैल जाती। आग लगने का कारण शार्ट-सर्किट बताया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के स्टेशन रोड पर स्थित टायर गोदाम में सोमवार शाम अचानक आग लगने से हड़कंप मच गया। भीड़ भाड़ वाले इलाके में हुई घटना की खबर लगते ही प्रशासनिक अमला फायर ब्रिगेड के साथ मौके पर पहुंचकर आग बुझाने में जुट गया। पुलिस के मुताबिक मझगवां निवासी भागवत प्रसाद गुप्ता पुत्र रामप्रताप गुप्ता ने स्टेशन रोड पर ग्रीन टॉकीज के पास तीन मंजिला भवन में टायर शोरुम खोल रखा है। दूसरी और तीसरी मंजिल पर गोदाम बना है। सोमवार करीब शाम 6 बजे तीसरी मंजिल पर अचानक धुआं उठने लगा। यह देखकर आस-पास के दुकानदारों ने शो-रूम संचालक को खबर दी तो उन्होंने डायल 100 व फायर ब्रिगेड को सूचित करने के साथ ही कर्मचारियों की मदद से आग बुझाने की कोशिश शुरु कर दी।

दमकल को करनी पड़ी कड़ी मशक्कत
भीड़-भाड़ वाली सड़क पर बने तीन मंजिला भवन के ऊपरी तल में लगी आग को बुझाने के लिए दमकल कर्मियों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। टायरों में लगी आग इतनी भीषण थी कि नगर पालिक निगम और सीमेंट फैक्ट्री के दमकल वाहन को बुलाना पड़ा। पुलिस ने एहतियात के तौर पर शोरुम के दोनों तरफ 100 मीटर दूर बैरीकेट लगाकर आवागमन रोक दिया तो करंट फैलने के खतरे को देखते हुए विद्युत सप्लाई भी बंद करा दी।

अगल-बगल के दुकानदारों में दहशत
टायर शो-रूम के अगल-बगल की कई दुकानें बनी हैं जिनमें प्लास्टिक,मोटर पंप, होटल, बैंक संचालित हैं। इनके मालिकों ने आगजनी की घटना से दहशत फैल गई। कुछ दुकानदारों ने तो सामान खाली करना शुरु कर दिया था। समाचार लिखे जाने तक दूसरी मंजिल की आग बुझा ली गई पर तीसरी मंजिल से समाचार लिखे जाने तक लपटें उठ रही थीं। मौके पर एसडीएम पीएस त्रिपाठी, एडिशनल एसपी गौतम सोलंकी, सीएसपी विजय प्रताप सिंह, सिटी कोतवाल विद्याधर पांडेय समेत पुलिस और नगर निगम का भारी भरकम अमला मौजूद था तो स्थानीय लोग भी आग बुझाने की कोशिशों में मदद कर रहे थे। प्रथम दृष्टया शार्ट-सर्किट को घटना की वजह बताया जा रहा है।

जनरेटर में ब्लास्ट से कोतवाली में लगी आग, रिकार्ड खाक
जानकारी के मुताबिक टायर शो-रूम में लगी आग पर काबू पाने के लिए बाजार क्षेत्र की विद्युत सप्लाई रोक दी गई थी, इसके चलते सामान्य कामकाज के लिए कोतवाली में जनरेटर से लाइट चालू की गई, लेकिन किसी गड़बड़ी के कारण शाम पौने 8 बजे जनरेटर में धमाके के साथ आग लग गई। जिसकी जद में थाने का रिकार्ड रूम भी आ गया। इस घटना से पुलिसकर्मियों में हड़कम्प मच गया। आनन-फानन सब काम छोड़कर आग बुझाने की कोशिश शुरू कर दी गई। जल्द ही लपटों पर काबू पा लिया गया, लेकिन तब तक आधे से ज्यादा रिकार्ड नष्ट हो चुके थे। बाद में पुलिसकर्मियों ने बिगड़े जनरेटर को बाहर निकाल दिया। घटना के चलते थाना परिसर में धुआं भर गया था।

कमेंट करें