comScore

खुले प्रवर्ग के विद्यार्थियों के साथ अन्याय , 27 तहसीलों में पहुंची एसएमएसएन की मुहिम

खुले प्रवर्ग के विद्यार्थियों के साथ अन्याय , 27 तहसीलों में पहुंची एसएमएसएन की मुहिम

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महाराष्ट्र राज्य में अतिरिक्त आरक्षण से खुले प्रवर्ग के विद्यार्थियों के साथ अन्याय हुआ है। इस विषय को लेकर आरक्षण के विरोध में सेव मेरीट सेव नेशन ने आवाज उठाई है। हाल ही में नागपुर में हुई राज्य स्तरीय बैठक में एसएमएसएन की मुहिम को राज्य के प्रत्येक तहसील तक पहुंचाने का संकल्प लिया गया। अभी तक मुहिम 27 तहसीलों तक पहुंच चुकी है। बैठक में सभी तहसीलों में मुहिम को पहुंचाने के लिए योजनाएं बनाई गई। इसके साथ ही मुहिम के चलते होेने वाले विधानसभा चुनाव में राजनीति से दूर रह कर अपने विवेक और बुद्धि से निर्णय लेने का संकल्प लिया।

बहुत कम समय में की गई जागृति

डॉ. अनूप मरार ने एसएमएसएन मुहिम के कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए कहा कि 9 अप्रैल के बाद से शुरू हुई अतिरिक्त आरक्षण के संदर्भ में बहुत कम समय में जागृति की गई। इसमें बड़ी संख्या में लोगों का सहयोग हुआ है। डॉ. संजय देशपांडे ने एसएसएसएन में प्रत्येक व्यक्ति की भावना का सम्मान करने की बात कही। डॉ. अनिल लद्धड़ ने कहा कि सभी के सहयोग से यह कार्य किया गया साथ ही सेव मेरीट सेव नेशन राजकीय भूमिका नहीं है इसलिए मतदान के दौरान अपने विवेक से राजकीय भूमिका को ध्यान में रखकर मतदान करने की सलाह दी। के.के. अग्रवाल ने सभी को शपथ दिलाई।

उत्पला मुलावर ने महाराष्ट्र में चल रही मुहिम के बारे में पॉवर पांइट के माध्यम से प्रस्तुति दी। एड. अश्विन देशपांडे ने नियमों प्रावधान की जानकारी दी। विभिन्न जिलों से महेश कारवा, संजय जैन, सचिन पोशेट्टीवार, अविनाश चौधरी, आर.एम. मुंधड़ा, सीमा मंधानिया, सुशील मुंधड़ा, आदर्श मेहता, जगदीश चांडक और ऋचा जैन ने जिलों में चल रही मुहिम की जानकारी दी।  इस दौरान आर.जी. चांडक, डाॅ. अर्चना कोठारी, डॉ. अभिजीत अभंईकर, शरद खंडेलवाल आदि उपस्थित रहे। एसएमएसएन की अगली बैठक औरंगाबाद में होने की जानकारी पदाधिकारियों ने दी।
 

कमेंट करें
usyBC