comScore

जानलेवा सेल्फी ! पातालपानी में गिरने से छात्रा की मौत

November 04th, 2017 11:41 IST
जानलेवा सेल्फी ! पातालपानी में गिरने से छात्रा की मौत

डिजिटल डेस्क,इंदौर।  आजकल सेल्फी लेना का ट्रेंड सा बन गया है। युवा सेल्फी लेने के लिए अपनी जान की परवाह भी नहीं करते और कई बार ये उनकी आखिरी सेल्फी भी साबित होती है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है मध्य प्रदेश के पातालपानी में। जहां एक 16 साल की छात्रा की सेल्फी लेने के दौरान झरने में गिरने से मौत हो गई है।

ये भी पढ़ें- ओरछा के मंदिर में सेल्फी लेते हुए गिरने से विदेशी पर्यटक की मौत

बताया जा रहा है कि इंदौर के राजमहल कॉलोनी में रहने वाले राकेश रायवार अपने परिवार के साथ पिकनिक मनाने पातालपानी आए थे। इसी दौरान उनकी 16 साल की बेटी झरने के पास खड़े होकर सेल्फी ले रही थी। अचानक उसका संतुलन बिगड़ा और वो सीधे 300 फीट नीचे जा गिरी। चिल्लाने की आवाज सुनकर परिजन मौके पर पहुंचे। इसके बाद मौके पर मौजूद चौकीदार और पुलिस के कुछ अधिकारी रस्सी के सहारे नीचे उतरे। कड़ी मशक्कत के बाद छात्रा के शव को रेलवे ट्रैक के सहारे ऊपर लाया गया। बड़गोंदा थाना प्रभारी हितेंद्रसिंह राठौर ने बताया छात्रा झरने पर के पास लगी सुरक्षा रैलिंग के पार जाकर सेल्फी ले रही थी। इस दौरान संतुलन बिगड़ने से उसकी कुंड में गिरने से मौत हो गई।

ये भी पढ़ें-सेल्फी ले रहा भाई धुआंधार में बहा, बचाने के लिए कूदी बहन की मौत

अंधेरे ने बढ़ाई परेशानी

300 फीट नीचे में उतरे 100 डायल के पायलट विजय चौधरी, ग्रामीण मुकेश सहित कुछ लोग कड़ी मशक्कत के बाद शव को उपर ला सके। अंधेरा होने के कारण पार्किंग स्थल तक शव को लाने के लिए रेलवे ट्रैक वाले रास्ते पर टार्च की रोशनी का सहारा लिया गया।

सेल्फी लेते समय लड़की का फिसला पैर, 300 फीट नीचे कुंड में मिली इस हाल में


क्या है सेल्फी ?

सेल्फी शब्द वैसे तो साल 2013 में आक्सफॉर्ड डिक्शनरी में अपनी जगह बना चुका है पर कहां से, कौन से देश से आया ये कहना बड़ा मुश्किल है। अमेरिकन साइकेटरिक एसोसिएशन सेल्फी लेने की आदत को मानसिक डिसऑर्डर घोषित कर चुका है। संवेदना सोसाइटी ऑफ मेंटल हेल्थ के डॉ एस.त्यागी कहते हैं कि कोई भी चीज नॉर्मल से ज्यादा या अलग हो जाए तो वो अबनार्मल हो जाती है और सेल्फी उन्हीं चीजों में से एक है। ऐसे लोग जो दिनभर सेल्फी लेते हैं और सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं। दरअसल,वो दूसरे से अपने बारे में कुछ कहलवाना चाहते हैं। अपनी प्रशंसा सुनना चाहते हैं।

जानलेवा सेल्फी

सेल्फी के चक्कर में मार्च 2014 से सितंबर 2016 के दौरान भारत में 76 लोगों की जान जा चुकी है। अपनी सेल्फी को ज्यादा पॉपुलर करने के लिए लोग जान जोखिम में डालने से भी परहेज नहीं कर रहे हैं। वहीं इसी दौरान पूरी दुनिया में सेल्फी लेते वक्त 127 लोग को जान गंवानी पड़ी है।

कमेंट करें
gFDe8