comScore
Dainik Bhaskar Hindi

पैरेंट्स के लिए खुशखबरी, बच्चों के भारी बैग्स से नहीं टूटती पीठ : स्टडी

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 14th, 2018 13:11 IST

5.6k
0
0
पैरेंट्स के लिए खुशखबरी, बच्चों के भारी बैग्स से नहीं टूटती पीठ : स्टडी

डिजिटल डेस्क। आजकल स्कूलों में बच्चों की आयु और हाइट से ज्यादा वजन उनके बैग में होता है। प्राइमरी स्कूल के बच्चों के बैग में किताबों का वजन उनकी उम्र से दोगुना होता है। समय के साथ स्कूल के बच्चों के बैग का वजन भी बढ़ता जा रहा है। उन पर पढ़ाई का एक तरह से प्रेशर बढ़ता जा रहा है जो कि उनके लिए हानिकारक है। बच्चों की पीठ पर बैग का इतना वजन हो जाता है कि उनसे चला भी नहीं जाता है। बच्चों के माता-पिता को उनक बैग ऑटो या गाड़ी में रखना पड़ता है।  

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर