comScore
Dainik Bhaskar Hindi

किसानों की मौत को सिंधिया ने बताया शर्मनाक, अजय सिंह ने मांगा शिवराज से इस्तीफा

BhaskarHindi.com | Last Modified - July 27th, 2017 16:17 IST

1.4k
0
0
किसानों की मौत को सिंधिया ने बताया शर्मनाक, अजय सिंह ने मांगा शिवराज से इस्तीफा

एजेंसी, भोपाल. एमपी के गुना संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंदसौर जिले में पुलिस और किसानों के बीच हिंसक झड़प में गोली लगने से आंदोलनकारी किसानों की मौत की कड़ी निंदा करते हुए इसे प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार का कायराना कृत्य बताया है। वहीं नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने इस मामले पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से इस्तीफा देने की मांग की है। उन्होंने इस गोलीकांड की जांच के लिए विधायकों की एक समिति भी गठित की है।

सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज यहां जारी अपने बयान में कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा छले गये किसानों के आंदोलन को यदि सरकार पुलिस की गोली के दम पर निपटना चाहती है तो इससे शर्मनाक कुछ और नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसान पुत्र होने की बात करते हैं और उनके ही राज में यदि किसानों को पुलिस की गोली खाकर मृत्य के मुंह में जाना पड़े तो इससे बुरा और क्या हो सकता है।

सिंधिया ने प्रदेश में किसान आंदोलन आज भी जारी होने की बात कहते हुए दावा किया कि मुख्यमंत्री ने दो दिन पूर्व अपने दल से जुड़े एक संगठन के लोगों के नाम से किसान आंदोलन के समापन की झूठी घोषणा भी करा दी। यहां तक कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने तो किसानों द्वारा मुख्यमंत्री के सम्मान की भी घोषणा कर दी | कांग्रेस सांसद ने सवाल किया कि असली किसान प्रतिनिधियों को बुलाकर बातचीत करने और उनकी मांगों पर विचार करने के स्थान पर यदि सरकार पुलिस की गोलियों का उपयोग करेगी तो किसान कहां अपनी फरियाद करेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के गृह मंत्री भी कह रहे हैं कि अब किसान आंदोलन से सख्ती से निपटा जाएगा, जो सरकार की मंशा को साफ करता है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने मांग की कि इस मामले की न्यायिक जांच हो और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो।

दूसरी ओर नेता प्रतिपक्ष कार्यालय से जारी विज्ञप्ति के अनुसार अजय सिंह ने कहा कि यह किसान पुत्र मुख्यमंत्री के लिए शर्मनाक है। उन्हें तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। सिंह ने दावा किया कि उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा था कि वे सीधे किसान से संवाद करें, लेकिन उनकी मंशा किसानों को सुनना नहीं था। इस आंदोलन से उनके सारे दावों की पोल खुल गई है।

नेता प्रतिपक्ष ने आरोप लगाया कि मंदसौर जिला प्रशासन ने मुख्यमंत्री के इशारे पर ही किसानों पर गोली चलाई है। उन्होंने कहा कि कल इंदौर में मुख्यमंत्री ने किसान आंदोलन पर सख्त कार्यवाही करने को कहा था जो मंदसौर जिला प्रशासन ने कर दिखाया।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें