comScore

ऑस्ट्रेलिया में पीएम स्कॉट मॉरिसन की चमत्कारिक जीत, जनता को दिया धन्यवाद


हाईलाइट

  • संसदीय चुनाव में पीएम स्कॉट मॉरिसन के नेतृत्व वाली कंजरवेटिव पार्टी की जीत हुई है
  • जीत से उत्साहित मॉरिसन ने लोगों को धन्यवाद दिया है
  • मॉरिसन ने कहा कि उन्हें हमेशा ही चमत्कार में विश्वास रहा है

डिजिटल डेस्क, कैनबरा। ऑस्ट्रेलिया में संसदीय चुनाव में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के नेतृत्व वाली कंजरवेटिव पार्टी की जीत हुई है। जीत से उत्साहित मॉरिसन ने कंजरवेटिव गठबंधन को फिर से चुनने के लिए देश के लोगों को धन्यवाद दिया है। मॉरिसन ने कहा कि उन्हें हमेशा ही चमत्कार में विश्वास रहा है। मॉरिसन के प्रतिद्वंदी और लिबरल-नेशनल गठबंधन के नेता बिल शॉर्टन ने अपनी हार स्वीकारते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

इससे पहले आए एग्जिट पोल में लिबरल-नेशनल गठबंधन की जीत का अनुमान जताया गया था। हालांकि अभी चुनाव का पूर्ण परिणाम आना बाकी है। 70 प्रतिशत वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है, जिसमें मॉरीसन के नेतृत्व वाली कंजरवेटिव पार्टी ने जीत हासिल कर ली है या आगे चल रही है। कंजरवेटिव पार्टी के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार को बहुमत के लिए 76 सीटों की ज़रूरत है और वह 74 सीटों पर आगे है। लेबर पार्टी 66 सीटों पर आगे है।

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में प्रधानमंत्री चुनने के लिए हुए आम चुनाव में 1.64 करोड़ मतदाता ने अपने-अपने मत का प्रयोग किया। नए प्रधानमंत्री को चुनने के लिए हुए इस मतदान के तुरंत बाद एक्जिट पोल निकाला गया था। जिसमें लेबर पार्टी की जीत का अनुमान जताया गया था। इसमें कहा गया था कि 151 सीटों में से लेबर पार्टी की कम से कम 82 सीटों पर जीत होगी। हालांकि चुनाव परिणाम इसके उलट आया है। 
 
ऑस्ट्रेलिया में वोटरों के लिए मतदान करना अनिवार्य है। वहां के कानून के मुताबिक 18 साल से ऊपर के नागरिक को वोट करना जरुरी है।ऐसा नहीं करने पर सरकार वोटरों से जवाब मांगती है। जवाब नहीं मिलने पर करीब 1000 रुपए का जुर्माना भी लगाया जा सकता है। यह कानून ऑस्ट्रेलिया में साल 1924 में लगाया गया था। इस कानून के बनने के बाद से देश में मतदान में काफी इजाफा हुआ। इस कानून के लगने के बाद से वहां वोटिंग परसेंटेज हमेशा 91 फीसद से ऊपर ही रहा है।

कमेंट करें
wHehc