comScore

असम : बिजली का तार गिरने से तालाब में दौड़ा करंट, 7 मछुआरों की दर्दनाक मौत

September 22nd, 2018 00:53 IST
असम : बिजली का तार गिरने से तालाब में दौड़ा करंट, 7 मछुआरों की दर्दनाक मौत

डिजिटल डेस्क, नागांव। असम के नागांव में करंट की चपेट में आने से सात मछुआरों की मौत हो गई। वहीं पांच मछुआरे गंभीर रूप से झुलस गए। घायल मछुआरों को स्थानीय अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। ये हादसा तालाब में बिजली के तार गिर जाने के कारण हुआ। बिजली के तार से तालाब करंट दौड़ गया और मछुआरे इसकी चपेट में आ गए। मुख्यमंत्री सर्बानंद साेनोवाल ने बिजली राज्य मंत्री तापोन गोगोई को मामले पर नजर रखने को कहा है। मामले की जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं। जल संसाधन मंत्री केसाब महंत ने मृतकों के परिजनों को 2.5 - 2.5 लाख सहायता राशि देने का ऐलान किया है।

यहां के रहवासियों ने बताया कि पहले एक तार टूटकर इस तालाब में गिर गया था। एक व्यक्ति ने तालाब में मछलियां मरी देखकर गांव वालों को जानकारी दी और इसके बाद पुलिस और बिजली विभाग को मामले की जानकारी दी गई। इसके बाद बिजली आपूर्ति काट दी गई और ग्रामीणों ने तार में करंट नहीं होने के बाद तालाब में मरी मछलियों को जमा करना शुरू कर दिया। इसी दौरान अचानक तार में करंट दौड़ गया। तालाब में मछली इकट्ठा कर रहे लोग इसकी चपेट में आ गए। इस दौरान स्थानीय लोगों ने डंडों और बांस की मदद से उन्हें बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन उनके प्रयास असफल रहे। सात मछुआरों की करंट की चपेट में आने से दर्दनाक मौत हो गई। वहीं करंट लगने से झुलसे 5 मछुआरों को गंभीर हालत में नागांव सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जब शवों को तालाब से बाहर निकाला गया तो वे जले हुए थे या उनमें से धुआं निकल रहा था। पुलिस ने मृतकों की पहचान रफीकुल इस्लाम, जबर अली, हबीबुर रहमान, मैनुल इस्लाम, इनामुल इस्लाम और आशिफुल इस्लाम (10) के रूप में की है। अधिकारियों ने बताया कि लापरवाही के लिए एपीडीसीएल के उप मंडलीय अधिकारी पल्लब दास और कंपनी के तीन अन्य कर्मचारियों को घटना के बाद निलंबित कर दिया गया है।

Loading...
कमेंट करें
o31aX
Loading...
loading...