comScore
Dainik Bhaskar Hindi

 नया शो दास्तान ए मोहब्बत सलीम अनारकली,नागपुर के शाहबाज खान बने अकबर

BhaskarHindi.com | Last Modified - October 13th, 2018 08:35 IST

2.9k
1
0
 नया शो दास्तान ए मोहब्बत सलीम अनारकली,नागपुर के शाहबाज खान बने अकबर

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कलर्स चैनल पर 1अक्टूबर से नया शो दास्तान-ए-मोहब्बत शुरु हुआ है। शो सलीम अनारकली की लव स्टोरी पर बेस्ड है। शो में शाहीर शेख, शाहबाज खान, गुरदीप कोहली, सोनारिका भदौरिया मुख्य किरदारों में है। शाहीर इस नए टीवी शो के लीड रोल सलीम के किरदार में हैं, जबकि सोनारिका भदौरिया अनारकली का किरदार निभाते हुए नजर आ रही हैं इस शो में उज्जैर बसर और नायशा खन्ना सलीम और अनारकली के बचपन का रोल निभाते नजर आएँगे। वहीं शो में नागपुर के शाहबाज खान,बादशाह अकबर का रोल करते दिख रहे हैं। शाहबाज का कहना है कि ये रोल उनके लिए चुनौतीपूर्ण है।

नागपुर के रहने वाले शाहबाज खान एक भारतीय फिल्म और टीवी अभिनेता हैं, जो कि हिंदी सिनेमा में अपने बेहतरीन काम के लिए जाने जाते हैं। शाहबाज खान के प्रसिद्ध क्लासिकल सिंगर उस्ताद आमिर खान के बेटे हैं। वहीं वे नागपुर के  हिस्लॉप कॉलेज के छात्र रह चुके हैं। शाहबाज हिंदी सिनेमा के साथ टीवी जगत के बड़े सितारे हैं। शाहबाज कई फिल्मों और टीवी शो में काम कर चुके हैं।  उनका कहना है कि वे तब तक काम करना पसंद नहीं करते हैं जब तक कि मुझे कहानी या किरदार पसंद नहीं आता। वे कहते हैं कि उन्हेंऑफर्स तो बहुत मिले, लेकिन उनमें दम नहीं था। मैंने स्टार टीवी टीवी का नया शो च्दास्तान ए मोहब्बत सलाम अनारकली में काम करना इसलिए मंजूर किया क्योंकि उसकी कहानी मुझे अच्छी लगी। यह किरदार चुनौती भरा और वास्तविकता के नजदीक है।

'कामेडी करना चाहता हूं': शाहबाज

शाहबाज खान ने कहा कि 'वे खुद चाहते हैं कि अलग-अलग रोल निभाऊं, लेकिन एक छवि बन जाती है। कास्टिंग डायरेक्टर भी रोल देते वक्त यही सोचता है कि शाहबाज का डीलडौल अच्छा है। नकारात्मक भूमिका अच्छे से करेगा। मैं तो कॉमेडी करना चाहता हूं, लेकिन कोई हास्य रोल नहीं देता है। वहीं पुरानी बातें याद करते हुए उन्होंने कहा कि जब उनके  पिता का इंतकाल हुआ उस वक्त वे बहुत छोटे थे। उनकी मां का कहना था कि यदि वे संगीत की दुनिया में जाएंगे तो बड़ा होने पर हमेशा उनकी तुलना पिता से की जाएगी जो उनके लिए रूकावट साबित हो सकती है। अगर पिता से संगीत सीखता और वे साथ होते तो बात कुछ और होती। मैंने पढ़ाई पर ध्यान दिया और सीए की तैयारी में जुट गया। उस दौरान एक्टिंग स्कूल में अपने दोस्त का एडमिशन करवाने गया तो मुझे उस स्कूल के टीचर ने कहा कि तुम एक्टर क्यों नहीं बन जाते। बात जम गई और मैं अभिनय की दुनिया में आ गया।'

नहीं ली कोई ट्रेनिंग: शाहबाज

बकौल शाहबाज खान ने एक्टिंग में कोई प्रशिक्षण नहीं लिया है। दिलीप कुमार, नसीरुद्दीन शाह, अमिताभ बच्चन जैसे अभिनेताओं की फिल्में देखकर अभिनय सीखा। वे कहते हैं कि टीवी इंडस्ट्री में जमीन-आसमान का फर्क आया है। पहले शेर दिल निर्माता थे। किसी किस्म का समझौता नहीं करते थे। चैनल कम थे, लेकिन स्तरीय कार्यक्रम बनते थे। मुझे आज भी टीपू सुल्तान में किए गए अभिनय के लिए याद किया जाता है। मेहनत अब भी होती है, लेकिन समझौते और दबाव बहुत बढ़ गए हैं। फिल्म और टीवी की दुनिया में शाहबाज खान एक परिचित नाम है।अब बादशाह अकबर के किरदार में शाहबाज जंच रहे हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर