comScore

शनिचरी अमावस्या आज : इन अचूक उपायों से मिलेगा लाभ

March 17th, 2018 08:34 IST

डिजिटल डेस्क। आज शनिचरी अमावस्या है। यह दिन शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए उत्तम होता है। इस दिन किए गए उपायों से शनिदेव प्रसन्न होंगे। इस श्रेष्ठ संयोग में किए गए उपायों से कुंडली के किसी भी ग्रह के अशुभ प्रभावों से बचा जा सकता है।

वैसे तो सभी को शनिचरी अमावस्या पर यह सारे उपाय करने चाहिए, जो लोग शनि की साढ़े साती या ढैय्या से पीड़ित हैं उन्हें विशेष तौर पर यह उपाय करना चाहिए।

  • पवित्र नदी के जल से या नदी में स्नान कर शनिदेव का आवाहन करते हुए उनके दर्शन करें।
  • शनिदेव का आवाहन करने के लिए हाथ में नीले पुष्प, बेल पत्र, अक्षत और जल लेकर इस मंत्र का जाप करें -

       
        "ह्रीं नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्

          छायार्माताण्डसंभूतं तं नमामि शनैश्चरं"।।
 

  • शनिचरी अमावस्या के दिन सुबह जल्दी उठकर जल में चीनी और काला तिल मिलाकर पीपल की जड़ में अर्पित कर सात परिक्रमा करने से शनिदेव प्रसन्न होंगे।
  • शनिचरी अमावस्या के दिन शाम के समय पीपल के पेड़ पर सात प्रकार का अनाज चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं, इससे कुंडली के ग्रह अनुकूल होंगे।
  • शनिचरी अमावस्या के दिन 108 बेलपत्र की माला भगवान शिव के शिवलिंग पर चढ़ाएं। 
  • शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए सबसे अचूक मंत्र है -
     

          "ऊँ शं शनैश्चराय नमः"
 

  • इस मंत्र के जाप से शनिदेव प्रसन्न होंगे और सब दुख दूर करेंगे।
  • इस दिन बरगद के पेड़ की जड़ में गाय का कच्चा दूध चढ़ाकर उसका मिट्टी से तिलक करें, इससे धन की प्रप्ति होगी।
  • उड़द की दाल में काला नमक मिलाकर खिचड़ी बनाएं और शाम के समय मंदिर जाकर शनिदेव को इसका भोग लगाएं और प्रसाद के रूप में ग्रहण करें।
  • इस दिन मनु्ष्य को सरसों का तेल, उड़द, काला तिल, देसी चना, गुड़, शनियंत्र और शनि संबंधी समस्त पूजन सामग्री अपने ऊपर वार कर शनिदेव के चरण में चढ़ाकर शनिदेव का तैलाभिषेक करना चाहिए।
  • साथ ही अपने गले में गौरी शंकर रुद्राक्ष 7 दानें लाल धागे में धारण करें।
  • जिनके ऊपर शनिदेव की अशुभ दशा हो ऐसे जातकों को मांस, मदिरा, बी़ी-सिगरेट आदि नशीले पदार्थ का सेवन नहां करना चाहिए।

    ये उपाय दिलाएंगे शनि के प्रकोप से मुक्ति

    शास्त्रों के अनुसार शनिश्चरी अमावस्या का अत्यधिक महत्व है। शनिश्चरी अमावस्या के दिन कुछ उपायों को करने से शनि की साढ़ेसाती की समस्या से आपको निजात मिलेगी...
     
  • शनिचरी अमावस्या के दिन शनि के बीज मंत्र का जप कर उड़द की दाल की खिचड़ी या तिल से बने पकवान गरीबों को दान करें।
  • अमावस्या की रात्रि में 8 बादाम और 8 काजल की डिब्बी काले वस्त्र में बांधकर संदूक में रखें। इससे शनि की ढैय्या खत्म हो जाएगी।  
  • शनिचरी अमावस्या के दिन पीपल के पेड़ पर सात प्रकार का अनाज चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
  • प्रतिदिन काले श्वान को मीठी रोटी खिलाएं।
  • घर की दहलीज में चांदी का पत्तर दबाएं।
कमेंट करें
Survey
आज के मैच
IPL | Match 38 | 21 April 2019 | 04:00 PM
SRH
v
KKR
Rajiv Gandhi Intl. Cricket Stadium, Hyderabad
IPL | Match 39 | 21 April 2019 | 08:00 PM
RCB
v
CSK
M. Chinnaswamy Stadium, Bengaluru