comScore
Dainik Bhaskar Hindi

दोबारा ICC के अध्यक्ष बने शशांक मनोहर

BhaskarHindi.com | Last Modified - May 16th, 2018 15:18 IST

4.4k
0
0
दोबारा ICC के अध्यक्ष बने शशांक मनोहर

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। शशांक मनोहर को फिर से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) का स्वतंत्र चेयरमैन चुना गया है। शशांक मनोहर को दूसरे कार्यकाल के लिए निर्विरोध चुना गया। मनोहर भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं और पहली बार साल 2016 में आईसीसी (ICC) के स्वतंत्र चेयरमैन चुने गए थे। दूसरी बार निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने के बाद उनका कार्यकाल दो साल के लिए और बढ़ गया है और वो 2020 तक आईसीसी के अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे।    

निर्विरोध चुने गए शशांक मनोहर 

आईसीसी अध्यक्ष पद की चुनाव प्रक्रिया के अनुसार आईसीसी के निदेशकों में से हर एक को एक उम्मीदवार को नामित करने का अधिकार होता है, लेकिन नामित होने वाला उम्मीदवार वर्तमान या पूर्व आईसीसी निदेशक होना चाहिए। जिस किसी को भी दो या दो से अधिक निदेशकों का समर्थन मिलता है वो चुनाव लड़के के लायक होता है क्योंकि शशांक मनोहर नामित होने वाले अकेले उम्मीदार थे इसलिए चुनाव प्रक्रिया देख रहे ऑडिट कमेटी के चेयरमैन एयवर्ड क्विनलैन ने औपचारिकताएं पूरी करते हुए उनके नाम का ऐलान दूसरे कार्यकाल के लिए कर दिया। शशांक मनोहर ही दूसरी बार आईसीसी के चेयरमैन बनेंगे ये पिछले महीने कोलकाता में हुई आईसीसी की तिमाही बैठक में ही तय हो गया था क्योंकि तब किसी ने भी उनकी उम्मीदवारी का विरोध नहीं किया था। 

पहले कार्यकाल की उपलब्धियां

आईसीसी का चेयरमैन रहते हुए शशांक मनोहर ने कई महत्वपूर्ण सुधार किए हैं जिनमें 2014 के प्रस्ताव को पलट देना और आईसीसी में पहली स्वतंत्र महिला निदेशक की नियुक्ति शामिल है। शशांक मनोहर ने अपने पहले कार्यकाल में खेल के संशोधित ढ़ांचे को लेकर भी कई बदलाव किए हैं जो काफी कारगर साबित हुए हैं। 

दोबारा ICC का चेयरमैन बनना बड़ा सम्मान

दूसरी बार आईसीसी का चेयरमैन बनने पर शशांक मनोहर ने कहा है कि दोबाा चेयरमैन चुना जाना बड़े सम्मान की बात है। मैं उन सभी सहयोगियों और आईसीसी के निदेशकों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझे समर्थन दिया। हमने पिछले दो साल में मिलकर कई कारगर कदम उठाए हैं जो वादे किए थे उन्हें पूरा किया है। इस दौरान शशांक मनोहर ने भविष्य की योजना के बारे में बताते हुए कहा कि आगामी दो साल में हमारी कोशिश खेल को आगे बढ़ाने की कोशिश होगी और हम चाहेंगि कि दुनिया के ज्यादा से ज्यादा लोग क्रिकेट का मजा ले सकें। उन्होंने कहा कि क्रिकेट की स्थिति दुनिया में बहुत अच्छी है लेकिन हम इसके अभिभावक हैं और हमें इसे बरकरार रखने के लिए कड़ी मेहनत करते रहना होगा। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर