comScore

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने किसे बताया अपना सबसे बड़ा दुश्मन ?

August 19th, 2017 12:00 IST
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने किसे बताया अपना सबसे बड़ा दुश्मन ?

डिजिटल डेस्क,मुंबई। केंद्र और राज्य की सत्ता में शामिल शिवसेना ने भाजपा को खुद की सबसे बड़ी दुश्मन पार्टी बताया है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना की नंबर वन शत्रु भाजपा है। उन्होंने पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को अगले चुनाव की तैयारी में जुटने को लेकर निर्देश दिए हैं। 

दरअसल शुक्रवार को शिवसेना भवन में पार्टी के जिला अध्यक्ष, संपर्क प्रमुख और वरिष्ठ नेताओं की बैठक हुई। बताया जा रहा है कि बैठक में उद्धव ने कहा कि हमें भाजपा को चुनौती देना है। इसके लिए पार्टी के पदाधिकारियों और नेताओं को जमीनी स्तर पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि सभी को आपसी मतभेद भुलाकर आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव की तैयारी में लग जाना चाहिए। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 2019 में 360 से अधिक लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य घोषित कर दिया है। इस लिहाज से अब उद्धव ने भी पार्टी के नेताओं और पदाधिकारियों को कमर कसने के लिए कहा है। उद्धव ने कर्जमाफी के मुद्दे पर राज्य सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कर्जमुक्ति का वातावरण बनाया जा रहा है, लेकिन अब तक किसानों को इसका लाभ नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को कर्जमाफी के पात्र किसानों की सूची जारी करनी चाहिए।

बैठक के दौरान विवाद
बैठक के दौरान उद्धव के सामने ही पार्टी नेता व प्रदेश के सहकारिता राज्य मंत्री गुलाबराव पाटील और जलगांव के जिला प्रमुख आपस में भिड़ गए। दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ आरोप लगाए। इसके बाद उद्धव ने दोनों नेताओं को समझाया। तब जाकर विवाद खत्म हुआ। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में उद्धव ने यह भी कहा कि पार्टी के पदाधिकारियों और नेताओं के बीच कोई मतभेद नहीं है। उन्होंने कहा कि जो कुछ विवाद हुआ था, उसको दूर कर लिया गया है। 

मंत्रियों को विभागवार जिम्मेदारी
उद्धव ने पार्टी के वरिष्ठ मंत्रियों को संगठन के कामकाज के लिए विभागवार जिम्मेदारी भी दे दी है। पार्टी के वरिष्ठ नेता व परिवहन मंत्री दिवाकर रावते को विदर्भ, पर्यावरण मंत्री रामदास कदम को मराठवाड़ा, उद्योग मंत्री सुभाष देसाई को कोंकण, सांसद संजय राऊत को उत्तर महाराष्ट्र और सांसद गजानन कीर्तिकर को सातारा, सांगली और कोल्हापुर जिले की जिम्मेदारी दी गई है। 

कमेंट करें
ZrjOH