comScore

शिवसेना का बढ़ा उत्साह, विधानसभा चुनाव की रणनीति पर जल्द काम शुरु

शिवसेना का बढ़ा उत्साह, विधानसभा चुनाव की रणनीति पर जल्द काम शुरु

डिजिटल डेस्क, नागपुर। लोकसभा चुनाव में सफल भाजपा की सहयोगी शिवसेना का उत्साह बढ़ गया है। पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने विधानसभा चुनाव की तैयारी के तहत नई रणनीति पर जल्द काम शुरु करने का निर्देश पार्टी नेताओं को दिया है। भाजपा के साथ गठबंधन के तहत मिलनेवाली संभावित सीटों पर उम्मीदवार चयन के लिए भी काम करने को कहा है। रविवार को मुंबई में अपने आवास पर ठाकरे ने शिवसेना के प्रमुख पदाधिकारियों से चर्चा की। रामटेक लोकसभा क्षेत्र से दोबारा जीते कृपाल तुमाने व अन्य पदाधिकारियों के साथ चर्चा में उन्होंने विदर्भ में शिवसेना को पुरानी स्थिति में लौटाने के लिए मिलजुलकर काम करने को कहा है। गौरतलब है कि 25 वर्षों तक साथ मिलकर चुनाव लड़ती रही भाजपा व शिवसेना के बीच 2014 के विधानसभा चुनाव में गठबंधन नहीं था।

राज्य में विधानसभा की 288 सीटें हैं। इनमें से भाजपा 117 से 119 सीटों तक लड़ती रही। शेष सीटे शिवसेना के हिस्से में जाती थी। 2014 में दोनों दलों ने लोकसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ा था। लेकिन विधानसभा में सीटों पर सहमति नहीं बन पायी थी। लिहाजा अलग अलग चुनाव लड़कर भाजपा ने 122 व शिवसेना ने 63 सीटें जीती थी। विदर्भ में शिवसेना 2 सीट पर ही सिमट गई थी। विदर्भ को लेकर भाजपा व शिवसेना की भूमिका अलग अलग है। राज्य में क्षेत्रीय विकास संतुलन का विषय उठता रहा है। विदर्भ भी दो हिस्सों में बंटा है। एक पूर्व व दूसरा पश्चिम विदर्भ। चुनाव परिणामों को देखा जाए तो पश्चिम विदर्भ में शिवसेना का प्रभाव रहा है। यवतमाल, अमरावती व बुलढाणा में लोकसभा का चुनाव परिणाम शिवसेना की झोली में जाता रहा है।

2014 में विदर्भ से शिवसेना के 4 उम्मीदवार जीते थे। इस बार 3 उम्मीदवार जीते हैं। नागपुर जिले में शिवसेना को विविध निकाय चुनाव में भाजपा से ही चुनौती मिलती रही है। मनपा के अलावा जिला परिषद की राजनीति में भाजपा शिवसेना को पछाड़ती रही है। ऐसी स्थिति में भी यहां से शिवसेना विधानसभा चुनाव जीतती रही है। रामटेक विधानसभा क्षेत्र में 2 बार शिवसेना उम्मीदवार जीते थे। हिंगणा व काटोल क्षेत्र में भी शिवसेना को गठबंधन के तहत चुनाव लड़ने का मौका मिलता रहा है। नागपुर शहर में भी कम से कम एक सीट गठबंधन के तहत शिवसेना के हिस्से में जाती रही। लेकिन यहां वह कभी चुनाव नहीं जीती है। शिवसेना सूत्र के अनुसार इस बार सीट साझेदारी को लेकर शिवसेना भाजपा से अधिक मोल तौल तो नहीं करेगी लेकिन कुछ सीटों पर अपनी स्थिति मजबूत बताते हुए विधानसभा चुनाव लड़ने का दावा करेगी।

तुमाने ने माना आभार

रामटेक से लोकसभा चुनाव जीते कृपाल तुमाने ने उद्धव ठाकरे को पुष्पगुच्छ देकर उनका आभार माना। रश्मि ठाकरे ने तुमाने का अभिनंदन किया। इस दौरान राज्य खनिज विकास महामंडल के अध्यक्ष आशीष जैस्वाल, जिला प्रमुख संदीप इटकेलवार, राजेंद्र हरणे, चंद्रहास राऊत, सुधीर सूर्यवंशी  उपस्थित थे। 
 

कमेंट करें
kruAs