•  28°C  Sunny
Dainik Bhaskar Hindi

Home » Dharm » Shraddh for childbirth and destruction of enemy

संतान प्राप्ति और शत्रु नाश के लिए करें श्राद्ध

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 09th, 2017 19:42 IST

संतान प्राप्ति और शत्रु नाश के लिए करें श्राद्ध

डिजिटल डेस्क, भोपाल। रविवार को पंचमी का श्राद्ध है। इसे संतान की प्राप्ति हेतु किया जाता है। जिन कुंवारे या अविवाहित लोगों की मृत्यु हो जाती है उनका श्राद्ध पंचमी को किया जाता हैा

ऐसे करें पंचमी का श्राद्ध

जिनकी संतान नहीं हो रही हो और जो संतान प्राप्ति चाहते हों, वे बरगद के पेड़ के नीचे नदी या तालाब किनारे इस श्राद्व को करते हैं तो उन्हें संतान प्राप्ति होगी। जिन पर कर्ज हो गया हो वे लोग क्षिप्रा, नर्मदा य गंगा के किनारे पंचमी का श्राद्व करें उन्हें कर्ज से मुक्ति मिलती है। कर्ज का ये उपाय काफी सटीक है। इसमें इन नदियों में तर्पण करें और नदी किनारे पिंडदान करें साथ ही दान-पुण्य करने से भी लाभ होगा।

शत्रु नाश के लिए षष्ठी का श्राद्व
षष्ठी का श्राद्ध सोमवार को होगा। इस श्राद्व को करने से देवता और पितृ प्रसन्न होते हैं और समाज में उत्तम स्थान की प्राप्ति होती है। युवा ब्राह्मण जोड़े को इस दिन भोजन कराने से लाभ होता है। जो लोग शत्रुओं से परेशान हैं, उन्हें षष्ठी का श्राद्ध जरूर करना चाहिए। इसको करने से शत्रु शांत होते हैं और उनकी साजिशें निष्फल होती हैं। जिनके शत्रु अधिक हों उन्हें षष्ठी का श्राद्ध करने के साथ इस तिथि में मछलियों को आटा भी खिलाना चाहिए। 

आचार्य राजेश 

9425010051

loading...
Similar News
12 प्रकार के 'श्राद्ध', जानिए कौन-सा कब और क्यों किया जाता है ?

12 प्रकार के 'श्राद्ध', जानिए कौन-सा कब और क्यों किया जाता है ?

पितृपक्ष 2017 : जिनकी मृत्यु तिथि ज्ञात ना हो इस दिन करें उनका 'श्राद्ध'

पितृपक्ष 2017 : जिनकी मृत्यु तिथि ज्ञात ना हो इस दिन करें उनका 'श्राद्ध'

इस वर्ष 15 दिन के पितृ पक्ष, जानिए क्यों जरूरी है श्राद्ध ?

इस वर्ष 15 दिन के पितृ पक्ष, जानिए क्यों जरूरी है श्राद्ध ?

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

FOLLOW US ON