comScore

मंदसौर गैंगरेप: जांच के लिए SIT गठित, आरोपियों का HIV टेस्ट भी होगा

July 01st, 2018 15:08 IST
मंदसौर गैंगरेप: जांच के लिए SIT गठित, आरोपियों का HIV टेस्ट भी होगा

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश के मंदसौर में सात साल की बच्ची के साथ हुई गैंगरेप की घटना ने एक बार फिर पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। लगातार आरोपियों को मौत की सजा देने की मांग जा रही है। इसी बीच मामले की जांच के लिए विशेष जांच टीम (SIT) भी गठित कर दी गई है।


पुलिस ने बताया कि मंदसौर गैंगरेप मामले की जांच करने के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। मंदसौर के एसपी (सिटी) राकेश मोहन शुक्ला ने कहा, मामले की प्राथमिकता के साथ जांच की जा रही है। इसके लिए एसआईटी भी गठित की गई है। वहीं दूसरे आरोपी को भी पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। आरोपियों को सजा दिलाने के लिए सब कुछ किया जा रहा है।

आरोपियों का होगा एचआईवी टेस्ट

वहीं दूसरी ओर गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों का पुलिस HIV टेस्ट भी करवाएगी। पुलिस को शक है दोनों सीरियल ओफेंडर हो सकते हैं। ऐसे में एचआईवी टेस्ट के बाद बच्ची के इलाज के लिए जरूरी कदम उठाया जा सकेगा।

बच्ची के स्वास्थ्य और शिक्षा का खर्च उठाएगी सरकार 


वहीं शिवराज सरकार ने पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद के लिए हाथ बढ़ाया, लेकिन पीड़िता के पिता ने मुआवजे को ठुकरा दिया। मध्य प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनिस ने बताया कि, सीएम शिवराज सिंह चौहान की तरफ से पीड़ित बच्ची के पिता के बैंक अकाउंट में 5 लाख रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। उन्होंने बताया बच्ची के स्वास्थ्य और शिक्षा का खर्च राज्य सरकार उठाएगी। 

बच्ची के पिता ने सरकार से मिले मुआवजे को ठुकराते हुए कहा कि उन्हें मुआवजा नहीं चाहिए। वह सिर्फ आरोपियों को फांसी पर लटकते देखना चाहते हैं। 

इधर मामले के दूसरे आरोपी की मां ने भी जांच के बाद कार्रवाई की मांग की है।

गौरतलब है कि 26 जून को मंदसौर में हाफिज कॉलोनी से सात साल की बच्ची को स्कूल से अगवा कर उसके साथ गैंगरेप किया गया था। अब तक इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 

वहीं दूसरी ओर गैंगरेप पीड़ित बच्ची का इंदौर के एमवाई अस्पताल में इलाज चल रहा है। अस्पताल की ओर से जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में बताया गया था कि बच्ची की हालत में सुधार हो रहा है, लेकिन उसके घावों को पूरी तरह ठीक होने में दो हफ्ते का समय लग सकता है।


इस मामले को लेकर कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी सरकार पर निशाना भी साधते हुए कहा था कि, मध्य प्रदेश बलात्कार की राष्ट्रीय राजधानी बन गया है। एमपी में हर साल 5000 महिलाओं से दुष्कर्म हो रहे हैं।

कमेंट करें
P0EZi